कोचिंग विद्यार्थी घर के लिए रवाना हुए चेहरे पर आई चमक

कोटा में रह रहे उत्तरप्रदेश के विद्यार्थियों को बसों से घर भेजा

 

By: Jaggo Chand Singh

Published: 18 Apr 2020, 01:38 AM IST

कोटा. कोटा में कोचिंग कर रहे विद्यार्थियों का शुक्रवार रात से घर जाना शुरू हो गया। सबसे पहले उत्तर प्रदेश के विद्यार्थियों को घर भेजा गया है। विद्यार्थी बार-बार घर भेजने की गुहार लगा रहे थे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला काफी दिनों से दूसरे राज्यों के बच्चों को अपने माता-पिता के पास सुरक्षित भेजने के लिए प्रयास कर रहे हैं। जिला कलक्टर ओम कसेरा ने राज्य सरकार को पूरी स्थिति से अवगत कराया। इसके बाद रोडवेज के एमडी नवीन जैन कोटा आए और बच्चों को सुरक्षित तरीके से भेजने के प्लान को अंतिम रूप दिया।


यूपी सरकार ने किया बसों का इंतजाम

इस प्लान के अनुसार उत्तरप्रदेश सरकार ने भी इस दिशा में पहल की और अपने राज्य के बच्चों को बुलाने की व्यवस्था के लिए बसों का इंतजाम किया। झांसी, आगरा और अन्य शहरों से करीब 300 बसों की व्यवस्था की गई है। फिलहाल सभी बसों में डीजल की व्यवस्था राजस्थान सरकार कर रही है।

ऑनलाइन व्यापार को सरकार की हरी झंडी का विरोध,कोटा
व्यापार संघ ने ट्वीट कर जताई पीड़ा

रात से शुरू हुई रवानगी
उत्तर प्रदेश के करीब 8 हजार बच्चे कोटा में रह रहे हैं। बसों को शहर में अलग-अलग जगह खड़ा करके विद्यार्थियों को बिठाकर शुक्रवार शाम से उत्तर प्रदेश के लिए रवाना करना शुरू कर दिया। राज्य सरकार के स्तर पर लिए गए निर्णय पर जिला कलक्टर ओम कसेरा ने एडीएम प्रशासन नरेन्द्र गुप्ता को समन्वय अधिकारी बनाया है। एएसपी मुख्यालय राजेश मील को पुलिस की व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला अन्य राज्यों के बच्चों की घर वापसी के प्रयास में लगे हुए हैं।


सामाजिक दूरी का ध्यान रखा

बसों में सीटों पर अंतराल के बाद विद्यार्थियों को बिठाया गया। पहले सभी की स्क्रीनिंग की गई। मास्क, दस्ताने और सेनेटाइज करने के बाद ही बस में प्रवेश दिया गया। बस को भी पहले सेनेटाइज किया गया। पूरी प्रक्रिया में सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखा गया। बसों को खड़ा करने के लिए तीन पार्किंग स्थल बनाए और छह स्थानों से विद्यार्थियों को बिठाया गया। उत्तरप्रदेश के बाद बिहार, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विद्यार्थी भी इस इंतजार में हैं कि वहां की सरकार उनके लिए कब ऐसी पहल करेगी। कोटा में हर साल करीब डेढ़ लाख विद्यार्थी देशभर से पढऩे आते हैं। लॉकडाउन में करीब 30 हजार विद्यार्थी कोटा में फंस गए। इनमें उत्तरप्रदेश के करीब 8 हजार विद्यार्थियों की घर वापसी का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

Corona virus
Show More
Jaggo Chand Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned