घर पर निजी चिकित्सक ने कोरोना को दी मात

निजी चिकित्सक ने बताया कि 16 जून को वे कोरोना से संक्रमित हुए थे

By: shailendra tiwari

Published: 29 Jun 2020, 01:21 AM IST

कोटा. शहर के नामी निजी चिकित्सक ने घर पर रहते कोरोना को मात दे दी। उनकी पहली रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है। निजी चिकित्सक ने बताया कि 16 जून को वे कोरोना से संक्रमित हुए थे। वे घर पर क्वारेंटाइन रहे। उनका घर पर ही इलाज चला। उसके बाद सोमवार को उनकी दूसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, लेकिन शनिवार को आई रिपोर्ट नेगेटिव आई है। उन्होंने बताया कि इलाज के साथ ही सुबह उठकर कपाल भांति, अनुविलोम व अन्य पांच प्रकार के प्रणायाम किए। डॉक्टर पिता की गाइड पर मेडिकल दवाइयां ली। उसके बाद उनकी शुक्रवार को सेम्पल लिए गए। उनकी शनिवार को नेगेटिव रिपोर्ट आई। अब एक और नेगेटिव रिपोर्ट आना बाकी है। उसके बाद वे पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएंगे।

कोरोना पॉजिटिव महिला को 12 घंटे बाद होश आया

कोविड अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉजिटिव लावारिस महिला को 12 घंटे बाद होश आया। होश में आने के बाद महिला ने बताया कि वह झांसी के पास डाबरा की रहने वाली है। उनके बेटे से फोन पर बात हुई तो उन्होंने बताया कि मां मानसिक रूप से अवस्थ है। उनका इलाज भी करवाया, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। वे अक्सर घर से बाहर ही रहती हैं। वे लॉकडाउन के कारण दिल्ली में थी। वहां से बात हुई तो उन्होंने स्वस्थ बताया था। उसके बाद वे ट्रेन से कोटा पहुंच गई होगी। वे कानपुर के रहने वाले है। उनका ननिहाल झांसी डबरा है।

गौरतलब है कि महिला स्टेशन क्षेत्र में लावारिस अवस्था में मिली थी। उसे 108 एम्बुलेंस से 25 जून को एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उसकी कोविड जांच पॉजिटिव आ गई। मरीज होश में नहीं होने से अपना नाम-पता बताने में असमर्थ थी। उसको बुखार व उल्टी की शिकायत भी थी। ड्यूटी डॉक्टर सीपी मीणा ने बताया कि लावारिस महिला को 12 घंटे बाद सुबह 9 बजे होश आ गया। हालांकि उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

Corona virus
Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned