राजस्थान-मप्र सीमाएं सील, फिर भी चोरी-छिपे आ रहे हैं लोग

चोरी छिपे आने वाले सभी लोगों की नहीं हो पा रही स्क्रीनिंग

 

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 27 Mar 2020, 08:44 PM IST

कोटा. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान और मध्यप्रदेश की सीमाएं सील होने के बाद भी दोनों राज्यों के बीच चोरी छिपे लोगों का पैदल आवागमन हो रहा है। ऐसे में दोहरा खतरा है। पहला तो वे संक्रमित होने पर अन्य लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। वहीं दूसरा ये कि वे ऐसे रास्तों से आ रहे हैं वहां से कोई आता जाता नहीं है। इस कारण कोसों तक उन्हें खाना पीना नहीं मिलने के कारण तबियत खराब होने का खतरा है। मध्यप्रदेश से राजस्थान आने वाले और राजस्थान से मध्यप्रदेश जाने वाले लोग पैदल ही सफर कर रहे हैं। इस समय गुजरात से श्रमिक राजस्थान आ रहे हैं और जयपुर से मध्यप्रदेश जा रहे हैं। ये बारां जिले के बापास से गुना के रास्ते पैदल ही मध्य प्रदेश में प्रवेश कर रहे हैं।

100 डिस्टिलरी और 500 विनिर्माताओं को हैंड सेनेटाइजर्स बनाने की अनुमति

बारां जिले की सीमा में इनकी स्क्रीनिंग भी की जा रही और शहर में आने पर रोक लगा दी है। बाइपास से ही खाना देकर रवाना किया जा रहा है। भवानीमंडी से लगी सीमा से भी लोग राजस्थान से मध्यप्रदेश जा रहे हैं। शुक्रवार से इनकी स्क्रीनिंग करने का कार्य शुरू हुआ। सीमा पार जाने वाले लोग जैसे ही कोई कस्बा आता है तो उसके बाहर से निकल जाते हैं। इस कारण कई लोगों का पता नहीं चलता कब निकल गए। अब सीमा पर गुजरने वाले लोगों को स्क्रीनिंग के साथ खाना दिया जा रहा है। शुक्रवार को कोटा-उदयपुर रोड पर गुजरात से आते हुए श्रमिक देखे गए। डीसीएम तारबाड़ा निवासी कैलाश ने बताया कि वे बेलदारी का काम करते है, लेकिन पिछले दिनों से हुए लॉकडाउन से परिवार पर संकट खड़ा हो गया। मजदूरी नहीं मिलने से करीब 40 परिवार पैदल ही गांव की ओर पलायन कर गए।

दो जिलों के सात अस्पतालों ने लौटाया, कोटा के चिकित्सक ने बचाई आंख की रोशनी

शहर में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग करने के निर्देश जारी किए हैं। राज्य की सीमाओं पर संक्रमण से सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है और विशेष सतर्कता बरती जाएगी।

ओम कसेरा, जिला कलक्टर, कोटा

Corona virus
Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned