कोटा में 'मंगल'वार, जिला कलक्टर की अधिकारिक पुष्टि के बाद मिली राहत

17 घंटे तक शहर में मचा रहा हड़कम्प, संदिग्ध की कन्फर्म टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव

By: KR Mundiyar

Updated: 31 Mar 2020, 11:49 PM IST

कोटा. शिक्षा नगरी के लिए एक बार फिर मंगलवार को राहत की खबर आई। कोटा में कोरोना को लेकर शहरवासियों की 17 घंटे तक सांसें अटकी रही। जिला कलक्टर ओम कसेरा के अधिकारिक तौर पर मंगलवार को दादाबाड़ी निवासी व्यक्ति की रिपोर्ट की नेगेटिव रिपोर्ट की पुष्टि करने के बाद शहरवासियों को राहत मिली।

जेईई मेन मई के अंतिम सप्ताह में होना संभावित

गौरतलब है कि बसंत विहार निवासी संदिग्ध व्यक्ति 13 मार्च को कोटा से जयपुर गया था। 16 मार्च को वापस कोटा लौटा। 22 मार्च को खांसी-जुकाम की शिकायत पर वह अस्पताल पहुंचा था। स्क्रीनिंग के दौरान कोरोना के लक्षण पाए जाने पर चिकित्सा विभाग ने उसका सेम्पल लिया। उसके बाद माइक्रोबायलॉजी लैब में दो बार सेम्पल की जांच की गई। रिपोर्ट में पॉजिटिव के लक्षण मिलने पर शहरभर में हड़कम्प मच गया। लोग एक-दूसरे को फ ोन लगाकर खबर की पुष्टि करते रहे। व्यक्ति के पॉजिटिव की आशंका की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। प्रशासन व चिकित्सा अधिकारियों की स्वास्थ भवन में 2 घण्टे बैठक चली।

कोटा के 33 निजी अस्पताल किए आरक्षित

प्रशासन ने क्रॉस वेरीफि केशन के लिए मरीज का सेम्पल व जांच रिपोर्ट जयपुर भेजी है। प्रशासन को उसके ट्रेन में सफर की जानकारी भी मिली। इसलिए इसके सफर के बारे में रेलवे को भी सूचित किया गया। उधर, रेलवे अधिकारियों को इसकी सूचना मिली तो वहां भी हड़कम्प मच गया। मंगलवार को दोपहर तीन बजे जिला कलक्टर ओम कसेरा ने उसके कन्फर्म टेस्ट में नेगेटिव की अधिकारिक तौर पर पुष्टि की। उसके बाद शहरवासियों को राहत की सांस मिली।

Corona virus
Show More
KR Mundiyar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned