बढ़ रहा कोरोना का कहर: एप से मिलेंगे अनारक्षित टिकट

रेल सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से शुरू करने की तैयारी है। अनारक्षित टिकटों के लिए की जाने वाली बुकिंग में उन्हें असुविधा से बचाने और टिकट काउंटरों पर सामाजिक दूरी के नियमों की पालना सुनिश्चित करने के लिए यह फैसला किया गया है। यूटीएस ऑन मोबाइल एप सुविधा पहले उपनगरीय खंडों में उपलब्ध कराई जाएगी।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 26 Feb 2021, 09:55 AM IST

कोटा. विगत कुछ दिनों में केरल एवं महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। ऐसे में इन राज्यों से राजस्थान आने वाले यात्रियों के लिए यात्रा प्रारम्भ करने के 72 घंटे के भीतर करवाए गए आरटी-पीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य की गई है। रेलवे स्टेशन उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी। कोटा में भी इसकी तैयारी कर ली गई।
उधर, कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए टिकट काउंटरों पर भीड़ कम करने और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने के उद्देश्य से रेलवे यूटीएस ऑन मोबाइल एप के माध्यम से अनारक्षित टिकटों की बिक्री की सेवा शुरू की जा रही है। मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों के संचालन के बाद अब अनारक्षित पैसेंजर ट्रेनों के संचालन की भी मांग बढ़ी है।
ऐसे में भारतीय रेलवे अनारक्षित रेल सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से शुरू करने की तैयारी में है। यात्रियों द्वारा अनारक्षित टिकटों के लिए की जाने वाली बुकिंग में उन्हें असुविधा से बचाने और टिकट काउंटरों पर सामाजिक दूरी के नियमों की पालना सुनिश्चित करने के लिए यह फैसला किया गया है। यूटीएस ऑन मोबाइल एप सुविधा पहले उपनगरीय खंडों में उपलब्ध कराई जाएगी। इसके बाद इस सुविधा को रेल मंडलों के गैर उपनगरीय क्षेत्रों में भी फिर से शुरू किया जाना प्रस्तावित है। सभी रेल मंडलों को यह निर्देश दिया गया है कि जब भी अनारक्षित रेल सेवाएं शुरू की जाएं, संबंधित रेल मंडल अनारक्षित टिकट जारी करने के लिए यूटीएस ऑन मोबाइल एप सुविधा को सक्रिय करें। कोटा से सामान्य दिनों में 10 ट्रेनों का संचालन होता था। कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन के समय से ही ट्रेनें बंद हैं, अब पुन: इनका संचालन शुरू होने की उम्मीद जगी है।

coronavirus
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned