ताकतवर हुआ कोरोना वायरस... 16 गुनी पहुंची रफ्तार

कोटा. कोटा में कोरोना का वायरस पहले की अपेक्षा और ताकतवर हो गया। कोरोना की रफ्तार अगस्त में 8 गुना से बढ़कर 16 गुना तक जा पहुंची है। अगस्त में 1726 से 3007 का आंकड़ा होने में मात्र 10 दिन का समय लगा। सबसे अधिक मौतें भी इसी माह में हुई। बीते 10 दिन में 20 मौतें हो चुकी है।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 11 Aug 2020, 01:02 PM IST

कोटा. कोटा में कोरोना का वायरस पहले की अपेक्षा और ताकतवर हो गया। कोरोना की रफ्तार अगस्त में 8 गुना से बढ़कर 16 गुना तक जा पहुंची है। अगस्त में 1726 से 3007 का आंकड़ा होने में मात्र 10 दिन का समय लगा। सबसे अधिक मौतें भी इसी माह में हुई। बीते 10 दिन में 20 मौतें हो चुकी है। कोटा में 6 अप्रेल को मिले पहले मरीज के बाद 1 हजार संक्रमित मरीज मिलने की गति का विश्लेषण किया तो सामने आया कि पहले चार माह में जहां 1726 पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए थे। उसके बाद कोरोना ने रफ्तार पकड़ी। कोटा में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 3 हजार के पार पहुंच गया है। जबकि रिकवर मरीजों की संख्या 1 हजार के पार। इसी के साथ रिकवरी का प्रतिशत 55 से घटकर 40 प्रतिशत हो गया है।

16 गुना बढ़ी रफ्तार

लॉकडाउन अवधि में मिले संक्रमित आंकड़ों का विश्लेषण किया तो सामने आया कि लॉकडाउन अवधि में प्रतिदिन औसत 8 मरीज संक्रमित मिले थे। अनलॉक अवधि में ये आंकड़ा बढ़कर औसत 11 मरीज प्रतिदिन हो गया, फि र अनलॉक-2 में जुलाई के 31 दिनों में संक्रमितों का आंकड़ा 669 से बढ़कर 1720 तक जा पहुंचा, यानी जुलाई में संक्रमण की रफ्तार 4 गुना बढ़ गई। औसत प्रतिदिन 34 जने संक्रमित मिल रहे थे। अनलॉक-3 के दस दिन में 1281 संक्रमित मिल चुके है और आंकड़ा 3 हजार के पार पहुंच गया है, यानी अगस्त में संक्रमण की रफ्तार 16 गुना बढ़ गई। औसत प्रतिदिन 128 जने संक्रमित मिल रहे है।

8 दिन में 1 हजार आंकड़ा पार

कोटा में 6 अप्रेल को पहला पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुआ था। उसके बाद 100 पॉजिटिव केस दर्ज होने में 14 दिन का समय लगा। 100 से 1 हजार का आंकड़ा होने में 105 दिन का वक्त लगा। कोरोना ने रफ्तार पकड़ी तो 1 हजार से 2 हजार का आंकड़े तक पहुंचने में केवल 14 दिन का समय लगा। अब मात्र 8 दिन में ही आंकड़ा 2 हजार से बढ़कर 3 हजार के पार हो गया है।

यूं समझे

- 6 अप्रेल को पहला केस रिपोर्ट हुआ था।

- पहले 14 दिन में 100 पॉजिटिव केस आए

- 105 दिन में आंकड़ा बढ़कर 1015 तक पहुंचा

- 119 दिन में आंकड़ा 2029 तक जा पहुंचा है। (14 दिन )

- 127 दिन में आंकड़ा बढ़कर पहुंचा 3007 (8 दिन )

रिकॉर्ड टूटा

कोटा में लॉकडाउन समय में 500 केस सामने आए थे। अनलॉक-1 में कोरोना का असर कम देखने को मिला। धीमी रफ्तार के चलते अनलॉक-1 के 27 दिन में केवल 169 केस सामने आए थे। अनलॉक-2 में कोरोना ने कोहराम मचाया। अनलॉक-3 में कोरोना का वायरस तांडव कर रहा है। अब रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ रहे है। अगस्त में केवल तीन दिन (2, 6 व 7) तिथि ही 100 से कम पॉजिटिव केस सामने आए।

ऐसे टूटता चला गया रेकॉर्ड

तिथि पॉजिटिव1 अगस्त 217

3 अगस्त 141

4 अगस्त 146

5 अगस्त 123

8 अगस्त 125

9 अगस्त 147

10 अगस्त 204 सुबह 9 बजे तक........

- ऐसे बढ़ती गई रफ्तारलॉकडाउन व अनलॉक-1 में 669 केस (औसत 8 मरीज रोज )

अनलॉक- 2 में 1057 केस (औसत 34 मरीज रोज )

अनलॉक- 3 में 10 दिन में 1281 पॉजिटिव केस (औसत 128 मरीज रोज )

ऐसे घटी रिकवरी रेट

कोटा जिले में रिकवरी रेट घटकर 40 प्रतिशत रह गई। कोटा जिले में 9 अगस्त तक कुल 2792 पॉजिटिव मरीज भर्ती हुए। इनमें से 1178 मरीज डिस्चार्ज हो चुके है। कोटा में फि लहाल 1 हजार से ज्यादा एक्टिव केस है।

एक्सपर्ट व्यू

कोटा में पहले की अपेक्षा इस बार कोरोना वायरस जरुर ताकतवर हुआ है। इसका प्रमुख कारण अन्तरराज्यीय परिवहन का खोला जाना। इससे वायरस का स्टे्रंथ बदला है। यह पहले की अपेक्षाकृत घातक दिख रहा है। लोगों को पहले की अपेक्षा अब जागरुक व सतर्क रहने की जरुरत है। लोग घर में रहने के साथ ही सोश्यल डिस्टेंसी, मास्क, सेनेटाइज का पालन करें। बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए।

- डॉ. मनोज सालूजा, आचार्य, मेडिसिन विभाग, मेडिकल कॉलेज

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned