कोरोना संक्रमण का असर, आधा भी नहीं हुआ राखी पर कारोबार

मिठाइयों की बिक्री पिछले साल के मुकाबले केवल 30 फीसदी

By: Ranjeet singh solanki

Published: 02 Aug 2020, 04:52 PM IST

कोटा। शहर में कोरोना संक्रमण के मामलों में अचानक भारी बढ़ोतरी होने का असर रक्षाबंधन के कारोबार पर भी पड़ा है। इस बार रक्षाबंधन पर आधे से भी कम कारोबार हुआ है। लोगों ने अतिआवश्यक होने पर ही खरीदारी की है। रविवार को लॉक डाउन है। रक्षाबंधन पर सबसे ज्यादा कारोबार नारियल, राखियां और मिठाइयों का होता है। पिछले साल के मुकाबले मिठाइयों की बिक्री 30 फीसदी बताई जा रही है। प्रमुख मिठाई व्यापारियों का कहना है कि पिछले साल रक्षाबंधन पर मोटे तोर पर दो से ढाई करोड़ की मिठाइयों की बिक्री हुई थी, इस बार तो काफी कम नहीं हुई है। ज्यादातर लोग घरों पर ही मिठाइयों बना रहे हैं। संक्रमण के दौर में बाजार से मिठाइयां लाने में भी हिचक रहे हैं। थोक नारियल कारोबारी ज्ञानचंद जैन का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले आधे सभी कम कारोबार हुआ है। कोरोना और लॉक डाउन के चलते इस बार नारियल तक नहीं मंगवाए हैं। बाजार में सामान्य राखियों की ही बिक्री हुई है। सोने-चांदी के भाव आसमान छूने के कारण चांदी की राखियों और नारियल की बिक्री नगण्य रही है।

Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned