कोरोना के बीच सावों में चमक रहे आभूषण

पिछले साल के मुकाबले अब भी भाव 40 फीसदी तक तेज

By: Ranjeet singh solanki

Published: 29 Nov 2020, 05:01 PM IST

कोटा. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते शादियों में मेहमानों की संख्या सीमित कर दी गई है। शादी-समारोह में पहले जैसी चमक भले ही नजर नहीं आती, लेकिन सावों के सीजन में आभूषणों की चमक बरकरार है। स्थिति यह है कि पिछले साल के मुकाबले इस बार सोने-चांदी के दामों में तकरीबन 40 फीसदी की तेजी है। इसके बावजूद शादी वालों ने ज्वैलरी के बजट में कोई कटौती नहीं की है। हालांकि भाव ज्यादा होने के कारण हल्के वजन की ज्वैलरी की ओर रुझान बढ़ा है। सावा सीजन के बीच पत्रिका ने शहर के सर्राफा बाजार के हाल जाने तो सामने आया कि देवउठनी एकादशी और पूर्णिमा के सावों के लिए तो ज्वैलरी की खरीदारी पहले ही हो गई। अभी दिसम्बर में होने वाले सावों की खरीदारी चल रही है। दीपावली बाद से सोने-चांदी के दामों में गिरावट आई है। इससे आगामी तिथियों में होने वाले सावों के लिए आभूषण खरीदने वालों को फायदा हो रहा है। अब तक सोने के दामों में करीब दो-ढाई हजार रुपए प्रति दस ग्राम की गिरावट आई है। हालांकि अभी भी पिछले साल के मुकाबले सोने-चांदी के दाम काफी ज्यादा हैं। पिछले साल दीपावली पर चांदी का भाव 37 हजार रुपए किलो था, इस बार 65 हजार रुपए किलो पहुंच गया। पारस ज्वैलर्स के निदेशक अंकित जैन का कहना है कि ज्वैलरी में फिलहाल सावों की खरीदारी ज्यादा हो रही है। कोरोना के चलते शादियों में अन्य खर्चों में कमी आने से बजट आभूषणों की खरीद पर खर्च कर रहे हैं। ज्वैलरी मार्केट में पिछले साल से भी ज्यादा डिमांड चल रही है।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned