शीतलहर में केवल 2 ही दहाई का आंकड़ा छू पाए...

मंडी की पिच पर सब्जियां 99 पर ऑल आउट

 

By: shailendra tiwari

Published: 18 Dec 2018, 07:23 PM IST

कोटा. भारतीय क्रिकेट टीम उधर ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट मैच हार गई, इधर, कोटा मंडी की पिच पर हाड़ौती की सब्जियां मुनाफे का मैच हार गई। सर्दी की ताबड़तोड़ गेंदबाजी से हाड़ौती की सारी सब्जियां 99 पर ऑल आउट हो गई। जी हां, बात हो रही है सब्जियों के थोक भावों की। लोकल और बाहर से आ रही सब्जियों की जबरदस्त आवक के चलते भाव में लगातार गिरावट आ रही है। हाल ये हैं कि मंडी में बिकने आने वाली रोजमर्रा की सब्जियां (थोक में प्रति किलो)100 रुपए के एक नोट से खरीदी जा सकती हैं, जबकि रिटेल में ये दोगुने और ज्यादा भाव में बिक रही हैं। नतीजतन मंडी में सब्जी बेचने पर किसानों को लागत भी नहीं मिल पा रही। ऐसे में छोटे किसान मंडी के बजाए बाहर मशाहखोरों के तरह रिटेल में सब्जी बेचने को मजबूर हैं।


कोटा थोक फ्रूट वैजिटेबल मर्चेन्ट संघ के महासचिव संतोष कुमार मेहता ने बताया कि जून तक भी सब्जियों के भावों में तेजी थी। सर्दी पडऩे के साथ ही सब्जियों के भावों में भारी गिरावट आई है। अभी कुछ सब्जियां बाहर से आ रही हैं। 15-20 दिन बाद जब ये सब्जियां हाड़ौती सम्भाग से आने लगेंगी तो इनके भावों में और गिरावट आएगी।

बाहर से आ रहीे ये सब्जियां

मेहता ने बताया कि अभी गाजर जोधपुर व कोटपूतली से आ रही है। हरी मिर्च गंगापुरसिटी व नीमच से तो मटर शिवपुरी, रतलाम व पंजाब से आ रही है। हाड़ौती में सबसे ज्यादा मटर बूंदी से आगे बड़ा नयागांव क्षेत्र में पैदा होता है। यहां का मटर पूरे देश में भेजा जाता है। जब वहां से आवक शुरू होगी तो भाव में भी कमी आएगी। अभी कोटा मंडी में आसपास से केवल मूली, टमाटर, बैंगन, गौभी, मैथी व पालक ही आ रहा है।


बड़े किसानों को ज्यादा नुकसान

बडग़ांव निवासी किसान रामराज मीणा ने बताया कि मंडी में बेचने पर सब्जियों का लागत मूल्य भी नहीं निकल रहा। इसलिए सब्जियों को मंडी के बाहर रिटेल में बेच रहे है। इससे मुनाफा तो नहीं, लेकिन खर्चा निकल जाता है। गिरधरपुरा निवासी किसान धन्नालाल मीणा ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा इस बार सब्जियों के भावों में काफी गिरावट है। छोटे किसान तो सब्जी स्वयं तोड़कर मंडी ले आते है, लेकिन बड़े किसानों को तो सब्जियां तोडऩे में मजदूर लगाने पड़ते है। ऐसे में उन्हें ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है।

 

सब्जी थोक रिटेल
आलू 7 10-15

प्याज

7-8 15
मटर 15-16 30
अरबी 5-6 10-12
खीरा 4 10
धनिया 20 40
मूली 3 10

टमाटर

5 10
मैथी-पालक 8-10 20

गोभी

8-10 15-20

पत्ता गोभी

4-5 10-15

हरी मिर्च

7-8 20
गाजर 5 10

 

रुपए प्रति किलो

shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned