कहां गया, 27 दिन से नहीं कोई खबर, मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व में नहीं दिख रहा बाघ एमटी-1

कोटा, मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व में बाघ एमटी-1 का नजर नहीं आना चिंता का कारणर बन गया है। लगातार 27 दिन के बाद भी इसकी कोई खबर नहीं है। न तो यह नजर आया है, न ही इसके साक्ष्य विभाग की टीम को मिल रहे हैं।गत माह 19 अगस्त को यह कैमरा ट्रेप हुआ था, इसके बाद से विभाग को इसके साक्ष्य मिले न ही साइटिंग हुई है।

 

By: Hemant Sharma

Published: 15 Sep 2020, 10:57 AM IST

कोटा, मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व में बाघ एमटी-1 का नजर नहीं आना चिंता का कारणर बन गया है। लगातार 27 दिन के बाद भी इसकी कोई खबर नहीं है। न तो यह नजर आया है, न ही इसके साक्ष्य विभाग की टीम को मिल रहे हैं।गत माह 19 अगस्त को यह कैमरा ट्रेप हुआ था, इसके बाद से विभाग को इसके साक्ष्य मिले न ही साइटिंग हुई है। विषय के जानकारों का मानना है कि अब बारिश भी थम चुकी है,वहीं एनक्लोजर में बाघिन को भी छोड़ा गया है, इस स्थिति में बाघ की साइटिंग होनी चाहिए।


काफी कुछ खोया है

टाइगर रिजर्व में 23 जुलाई को सबसे पहले बाघ एमटी.3 की मौत हुई। इसके कुछ दिन बाद ही बाघिन एमटी-2की मौत हो गई थी। इसका शव 3 अगस्त को मिला था। बाघिन की मौत के पन्द्रहवें दिन इसके एक शावक ने 18 अगस्त को शावक ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था।


चिंता पर उम्मीद भी


एनटीसीए के सदस्य व पूर्व वन अधिकारी दौलत सिंह शक्तावत बताते हैं कि प्रकृति के बारे में कुछ भी नहीं कह सकते। विभाग अपना कार्य कर रहा है, लेकिन फिर भी इतने दिन बाघ का नजर नहीं आना चिंता का विषय है। बीच में वर्षा के दौरान दीवार या फैंसिंग टूटी रही हो इस दौरान बाघ निकल गया हो व जंगल में ही कहीं हो। इस संभावना से भी इन्कार नहीं किया जा सकता।

साक्ष्य तो मिलना चाहिए

मंल वन कोटा के पूर्व उपवन संरक्षक जोधराज सिंह हाड़ा के अनुसार इतने दिनों में कहीं न कहीं कोई न कोई साक्ष्य सामने आना चाहिए। बाघिन को साफ्ट एनक्लोजर मंें छोडऩे के बाद बाघ के इस ओर आने की संभावनाएं बढ़ जाती है।अब बारिश थम गई है और जंगल के रास्ते भी खुल गए होंगे,एेसे में विभाग को अब ट्रेकिंग में थोड़ी आसानी होगी। सुखद परिणाम की उम्मीद नहीं छोडऩी चाहिए।


इनका है कहना


मुख्यवन संरक्षक व फील्ड डारेक्टर एसआर यादव ने बताया कि बाघ को ढूंढने के पूरे प्रयास कर रहे हैं। विभाग की टीम बाघ की तलाश में जुुटी हुई है। जंगल के बाहर भी इसे तलाशा जा रहा है।

Hemant Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned