हिमालय पर्वत से उतरकर राजस्थान में आ गई कड़ाके की सर्दी

मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट
उत्तर भारत के इस शहर से कम रहा कोटा का तापमान
शीतलहर से राजस्थान के इन जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

By: shailendra tiwari

Published: 18 Dec 2020, 06:01 PM IST

कोटा. हाड़ौती में सर्दी हाड़ कंपा रही है। शीत लहर ने लोगों को जकड़ लिया है। हाड़ौती ऑरेंज जोन में है। स्टेशन क्षेत्र में पारा 2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह शिमला सा ठंडा हो गया है। शिमला में 2.3 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि नए कोटा का पारा 5.3 डिग्री पर पहुंच गया। बीते तीन दिन में पारा 8 डिग्री गिरकर गिरा है। दृष्यता 1500 मीटर रही।


सुबह 8 बजे धूप खिली। दोपहर 12 बजे तेज धूप रही। शीतलहर के कारण दुपहिया वाहन चालकों को अधिक परेशानी रही। ठंडी हवाओं के कारण धूजणी छूटती रही। लोग दिनभर गर्म कपड़ों में लिपटे नजर आए। दिनभर सर्द हवाएं नश्तर सी चुभ रही। शाम ढलने के बाद सर्द हवाओं का जोर बढ़ गया है। लोगों के लिए अलाव ही सहारा बने हुए है।

जयपुर मौसम विभाग के निदेशक आरएस शर्मा ने बताया कि हाड़ौती में मौसम शुष्क रहेगा। औसत से एक-दो दिन और तापमान में गिरावट आएगी। 21 दिसम्बर से तापमान में कुछ बढ़ोतरी होगी।


सर्दी बढऩे के कारण

हिमाचल पर बर्फबारी हो रही है। इससे हवाएं मैदानी इलाकों में पहुंच रही
पिछले दिनों मावठ गिरी थी, बादल भी छाए थे।

पश्चिमी विक्षोभ का भी असर बना था।

शीतलहर का प्रभाव
1. फ्लू या नकसीर जैसी विभिन्न बीमारियों की संभावना बढ़ सकती है, जो आमतौर पर ठंड के लंबे समय तक सम्पर्क में रहने के कारण होती या बढ़ जाती है।

2. कंपकंपी को नजरअंदाज नहीं करें। यह पहला संकेत है कि शरीर गर्मी खो रहा है। घर के अंदर ही रहें।
3. ठंड के लम्बे समय तक सम्पर्क में रहने के कारण शीतदंश हो सकता है। त्वचा पीली, कठोर और सुन्न हो जाती है। काले रंग के छाले अंगुलियों, पैर की उंगलियों, नाक या कान की बाली जैसे शरीर के हिस्सों में दिखाई देते है। गंभीर शीतदंश को तत्काल चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है।


यह करें उपाय

1. हाथों में दस्ताने व पैरों में मौजे-जूते पहनें
2. त्वचा को तेल, बॉडी क्रीम से मॉइस्चराइज करें।

3. विटामिन सी से भरपूर फल और सब्जियां खाएं और पर्याप्त इम्युनिटी बनाए रखने के लिए तरल पदार्थ पीयें।
4. बाहरी गतिविधियों से बचें या सीमित करें।

5. गुनगुने पानी का प्रयोग करें। हीटर का उपयोग करते समय वेंटिलेशन बनाए रखें।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned