चार साल में भी नहीं हुआ कब्रिस्तान का विकास कार्य

नगर विकास न्यास (यूआईटी) चार साल में भी कंसुआ स्थित कब्रिस्तान का विकास कार्य नहीं करा सकी।

By: shailendra tiwari

Published: 16 May 2018, 03:28 PM IST

कोटा . नगर विकास न्यास (यूआईटी) चार साल में भी कंसुआ स्थित कब्रिस्तान का विकास कार्य नहीं करा सकी। निर्माण कार्य पूरा करने के लिए तीन महीने पहले दुबारा टेंडर निकाले गए, लेकिन ठेकेदार से नेगोशिएशन का काम अभी तक पूरा नहीं हो सका। नाराज लोगों ने जब यूआईटी पर प्रदर्शन किया तो अधिकारियों ने जल्द से जल्द काम शुरू कराने का आश्वासन दिया।


Inside Story: पढि़ए, नगर निगम में भ्रष्टाचार का कहानी, हाथ पर वजन रखो और चुटकी में कराओ सालों से अटका काम

हाड़ौती किसान आंदोलन के संयोजक कुन्दन चीता ने बताया कि कंसुआ कब्रिस्तान की चारदीवारी का निर्माण, बिजली और पानी के इंतजाम के साथ-साथ हरितिमा पट्टी विकसित करने के लिए न्यास ने चार साल पहले 27.50 लाख रुपए स्वीकृत किए। पहले वाला ठेकेदार ने काम नहीं किया। तीन महीने पहले दोबारा टेंडर निकाले गए, लेकिन कार्यादेश जारी करने के बजाय अधिकारी ठेकेदार से नेगोशिएसन करने में ही जुटे रहे।

 

Read More: कोटा के इस सरकारी विभाग में देखिए कैसे चलता है पैसे का खेल, जेब में माल रखो और करवाओ फर्जी काम


कंसुआ, डीसीएम, अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम, प्रेमनगर और गोविंद नगर का मुस्लिम समाज इसी कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार करता है, लेकिन व्यवस्थाएं खराब होने के कारण उन्हें खासी परेशानी का सामना करना पड़ते है। जिसके चलते नाराज लोगों ने मंगलवार को न्यास कार्यालय पर प्रदर्शन कर सचिव आनंदी लाल वैष्णव को ज्ञापन सौंपा।

 

Read More: सावधान! कोटा में फिर से सक्रिय हुआ चोर गिरोह, एक ही रात 6 मकानों के ताले तोड़ उड़ा ले गए लाखों का सोना

 

सचिव ने दिया आश्वासन
यूआईटी सचिव ने लोगों को आश्वासन दिया कि कंसुआ कब्रिस्तान में प्रस्तावित निर्माण कार्य जल्द ही शुरू करा दिए जाएंगे। इस दौरान ख्वाजा गरीब नवाज सोसाइटी के मोहम्मद हबीब, उपेंद्र सिंह, ईश्वर गम्भीर, सुरेश गुर्जर, बाबूभाई धर्मेंद्र राव, शमीम मुफ्ती, दिनेश विजय, पंकज लोढ़ा, विजय सिंह, आबिद कुरैशी, मंजूर तंवर और सलीम भारती आदि मौजूद रहे।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned