धारीवाल बोले भाजपा की दुर्दशा पर पर्दा डालने आए राठौड़

नगर निगम चुनाव में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल और पूर्व मंत्री राजेन्द्र राठौड़ के बीच सियासी बहस जारी है। वे अपनी-अपनी पार्टी के प्रत्याशियों को जिताने के लिए एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 28 Oct 2020, 12:39 PM IST

कोटा. कोटा उत्तर नगर निगम के चुनाव का प्रचार थमने के बाद नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, चार बार भाजपा का बोर्ड बना, लेकिन कभी जनता की तकलीफें दूर करने के लिए कार्य नहीं किया। उन्होंने कहा, भाजपा की दुर्दशा पर पर्दा डालने के लिए विधानसभा के उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ कोटा में डेरा डाले हुए हैं। राठौड़ खुद तो चुनाव जीतने के लिए लगातार निर्वाचन क्षेत्र बदलकर जनता को गुमराह करते रहे हैं। धारीवाल ने कहा कि निगम चुनाव में हमेशा स्थानीय जनप्रतिनिधि ही जंग के मैदान में उतरते हैं, लेकिन कोटा में भाजपा में गुटबाजी है। इसलिए मैदान ही खाली पड़ा है। इसकी खानापूर्ति करने के लिए भाजपा ने उपनेता राजेन्द्र राठौड़ को भेज दिया है।

मंत्री धारीवाल ने भाजपा की ओर से जारी किए गए सकंल्प पत्र पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा है वर्ष 1994, 1999, 2005 और 2013 में चार बार भाजपा का बोर्ड बना लेकिन 20 साल में कोटा में एक भी ऐसा काम वो बताते की स्थिति में नहीं है जो उनके कार्यकाल में करवाया गया हो। मंत्री धारीवाल ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा, भाजपा नेताओं में से कोई बता दे कि साल 2009 से 2013 तक शहर में सांडों का आतंक रहा हो और कोई मौत सांडों के आतंक से हुई हो जबकि भाजपा के शासन के दौरान निगम की ऐसी दुर्गति की गई कि हर स्तर पर निगम फेल रहा और 50 से अधिक लोगों को आवारा मवेशियों के कारण जान गंवानी पड़ी। इससे पहले राठौड़ ने कहा था कि वे लगातार सात बार चुनाव जीते हैं और धारीवाल एक बार चुनाव जीतते और फिर पांच साल बाद जनता उन्हें घर बिठा देती है।

BJP Congress
Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned