अच्छे दिनों की उम्मीद में बढ़े योग के छात्र

अच्छे दिनों की उम्मीद में बढ़े योग के छात्र

अच्छे दिनों की उम्मीद ने योग सीखने-सिखाने वालों की संख्या में अचानक इजाफा कर दिया है। बीते कुछ सालों में छात्रों के लिए तरस रहे योग संस्थानों में योग शिक्षा हासिल करने वाले छात्रों की अचानक भीड़ उमडऩे लगी है।

अच्छे दिनों की उम्मीद ने योग सीखने-सिखाने वालों की संख्या में अचानक इजाफा कर दिया है। बीते कुछ सालों में छात्रों के लिए तरस रहे योग संस्थानों में योग शिक्षा हासिल करने वाले छात्रों की अचानक भीड़ उमडऩे लगी है। वीएमओयू में सालभर पहले शुरू हुए योग पाठ्यक्रमों में छात्रों की संख्या डेढ़ हजार तक पहुंच गई है। 


Read More :   योग शिक्षकों को मिलेगी फिजियोथैरेपिस्ट की डिग्री


वद्र्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय (वीएमओयू) में दो साल पहले तक योग शिक्षा देने के लिए सर्टिफिकेट कोर्स संचालित किए जाते थे, लेकिन रोजगार के अवसरों की कमी के चलते छात्रों की संख्या घट गई और दोनों पाठ्यक्रम बंद करने पड़े। 


Read More :  प्री-पेड कार्ड बनाओ और किराये पर लो साइकिल


पिछले साल मोदी सरकार ने अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के साथ ही स्कूल, कॉलेज और दफ्तरों में योग शिक्षा को बढ़ावा देने पर जोर दिया तो रोजगार की संभावनाएं भांपते हुए वीएमओयू प्रशासन ने दो डिप्लोमा कोर्स शुरू कर दिए। नतीजा भी उम्मीद के मुताबिक आया और  फिलहाल दोनों पाठ्यक्रमों में छात्र संख्या बढ़कर डेढ़ हजार तक पहुंच गई।


Read More :  चाहे गोली से उड़ा दो, आंदोलन तो करेंगे


पढ़ाई के साथ प्रशिक्षण भी 

योग पाठ्यक्रम के प्रभारी डॉ. नित्यानंद शर्मा ने बताया कि वीएमओयू में फिलहाल दो डिप्लोमा पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। पहला डिप्लोमा इन योग, आयुर्वेद एवं पंचकर्म और दूसरा डिप्लोमा इन योग एवं नेचुरोपैथी। दोनों पाठ्यक्रम में थ्योरी के चार प्रश्रपत्रों के साथ ही एक पेपर प्रयोगात्मक कक्षाओं का होता है। इसके लिए विवि के स्टडी सेंटर पर छात्रों को कम से कम दस दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाता है।  


Read More : दहेज के लिए इतना प्रताडि़त किया कि खुदकुशी कर ली, पति गिरफ्तार


डॉ. शर्मा ने बताया कि योग को लेकर सरकारी गंभीरता बढऩे के बाद दोनों पाठ्यक्रमों में छात्रों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। वर्ष 2015 से शुरू हुए इन पाठ्यक्रमों में छात्र संख्या बढ़कर डेढ़ हजार तक पहुंच गई। उन्होंने बताया कि विवि जुलाई 2016 सत्र से योग में पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी शुरू करने की तैयारी में जुटा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned