आरबीएसके टीम बनी कोरोना वॉरियर्स

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत मूक बधिर बच्चों व उनके माता-पिता के चेहरे पर खुशी दिलाने वाली इन दिनों आरबीएसके की टीम भी कोरोना की वॉरियर्स बनी हुई।

By: Habulal Prakash Sharma

Published: 07 Apr 2020, 10:29 PM IST

कोटा. राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत मूक बधिर बच्चों व उनके माता-पिता के चेहरे पर खुशी दिलाने वाली इन दिनों आरबीएसके की टीम भी कोरोना की वॉरियर्स बनी हुई। ये टीम वैसे तो पूरे साल मूक बधिर बच्चों, दिल में छेद व कॉक्लियर इम्पांट डलवाने के लिए चयन से लेकर उसके ऑपरेशन के कार्य में मदद करती है, लेकिन इन दिनों कोरोना संक्रमण में शहर के लोगों की मदद के लिए मैदान में उतरी हुई है। इसमें कार्य में 12 मोबाइल हैल्थ टीम है। इस टीम के जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेन्द्र त्रिपाठी कप्तान है। उनके निर्देशन में पूरी टीम शहर में कोरोना की इस जंग से लोगों को बचाने में जुटी हुई है।

तेल फैक्ट्री व गेहूं की फसल में लगी आग

टीम है ये है सदस्य
एक टीम में एक आयुष चिकित्सक, एक एएनएम, एक फार्मासिस्ट है। टीमें जिले में अब तक कुल 360 से अधिक होम आइसोलेट में रखे गए व्यक्तियों का सर्विलेंस व काउंसलिंग का कार्य पूरा कर चुकी है। सर्विलेंस के समय आरबीएसके टीम सोश्यल डिस्टेंस व व्यक्तिगत स्वच्छता के लिए जागरुकता का कार्य भी कर रही है।

निजी वाहनों से जाते घर-घर
मोबाइल हैल्थ टीम में अल्प वेतन भोगी कार्मिक कार्यरत है। वे अपने स्वयं के खर्चे से सुरक्षा सामग्री खरीद कर व अपने निजी वाहनों से घर-घर जाकर इस महत्वपूर्ण कार्य को पूर्ण लगन से सम्पादित कर रही है।

Habulal Prakash Sharma Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned