अटल जी की वजह से 13 महीने सांसद रह पाए थे, 2 दशक बाद पार्टी फिर खेल सकती है इन पर दांव...

अटल जी की वजह से 13 महीने सांसद रह पाए  थे, 2 दशक बाद पार्टी फिर खेल सकती है इन पर दांव...

Rajesh Tripathi | Publish: Mar, 17 2019 06:13:44 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

एक वोट से सरकार गिरने के बाद राजस्थान समेत पूरे देश में वाजपेयी के पक्ष में सहानुभुति की लहर थी।

 

कोटा. जल्द ही दोनों पार्टियां राजस्थान में अपने प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर सकती है। इधर हाड़ौती की कोटा सीट की बात करें तो यह करीब तय माना जा रहा है कि भाजपा की ओर से मौजूदा सांसद ओम बिरला ही उम्मीदवार होंगे। वहीं कांग्रेस की ओर से जिले की पीपल्दा विधानसभा के विधायक रामनारायण मीणा के नाम की चर्चा जोरों पर है।

गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामनारायण मीणा 1998 में कोटा-बूंदी सीट से सांसद रहे है। 1998 के चुनावों में रामनारायण मीणा ने भाजपा के प्रत्याशी और दिवंगत नेता रघुवीर सिंह कौशल को हराया था लेकिन अटल जी वजह से मीणा केवल 13 महीनों तक ही इस सांसद रह पाए थे। दरअसल 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार 13 महीने तक चल पाई थी। एक वोट से सरकार गिरने के बाद राजस्थान समेत पूरे देश में वाजपेयी के पक्ष में सहानुभुति की लहर थी। 1999 में एक साल बाद हुए आम चुनावों में दोनों दलों द्वारा दोबारा वहीं प्रत्याशी मैदान में थे लेकिन इस बार रामनारायण मीणा की जगह रघुवीर सिंह कौशल ने चुनाव जीता। अब चर्चा है कि कांग्रेस दोबारा रामनारायण मीणा को यहां से मौका दे सकती है।

मंत्री नहीं बनाने से नाराज थे समर्थक
विधायक रामनारायण मीणा को गहलोत सरकार में मंत्री नहीं बनाने से पाटी कार्यकर्ता और उनके समर्थन नाराज चल रहे थे। कोटा-बूंदी सीट पर मीणा वोटरों की भरमार भी उनकी दावेदारी को मजबूत बनाता है।


हाड़ौती में गढ़ बचाने की चुनौती
हाड़ौती भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता है । इसकी बानगी विधानसभा चुनावों में भी देखने को मिल चुकी है । राज्य में पार्टी की हार के बावजूद यहां पार्टी का प्रदर्शन बाकी जगह के मुकाबले बेहतर था । हाड़ौती की कुल 17 सीटों में से 10 भाजपा के खाते में गई थी। वहीं कांग्रेस के लिए हाड़ौती की दोनों सीटों पर भाजपा को हराना आसान नहीं होगा। मौजूदा समय मे कोटा बूंदी सीट से प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष ओम बिरला वही झालावाड़ बारां संसदीय सीट से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सुपुत्र दुष्यंत सिंह सांसद है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned