डिप्टी कलक्टर की पहल से 78 बीघा चरागाह से हटा अतिक्रमण

कोटा जिले के कनवास उपखंड में सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाए जाने का अभियान जारी है। अब कोलानी गांव के चारागाह को अतिक्रमण मुक्त बनाया गया है। यहां ग्राम पंचायत का बोर्ड भी लगवा दिया है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 13 Jan 2021, 11:26 AM IST

कोटा. राजस्थान के कोटा जिले के एक डिप्टी कलक्टर की पहल से पिछले छह माह में हजारों बीघा सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाया जा चुका है। उनकी इस पहल के तहत मंगलवार को भी कनवास उपखण्ड के ग्राम कोलानी में ७८ बीघा चारागाह भूमि पर किए गए अतिक्रमण को हटाया गया। डिप्टी कलक्टर राजेश डागा ने बताया कि ग्राम कॉलोनी में चारे की समस्या और अतिक्रमण की शिकायत आ रही थी। इस कारण पहले परीक्षण कराया गया। इसके बाद समझाश की गई और राजस्व टीम से सीमाज्ञान करवाकर कोलानी में 78 बीघा चरागाह भूमि से अतिक्रमण हटाया गया। आसपास के ग्रामीणों द्वारा चरागाह भूमि पर बाड़े बनाकर कई वर्षों से अतिक्रमण कर रखा था। उन्होंने बार-बार सीमांकन की आवश्यकता न हो, इसके लिए सभी ग्राम पंचायतों को निर्देश दिए कि अतिक्रमण मुक्त चारागाह भूमि पर पत्थरों की कोट कर, पिलर्स नंबर लिखे जाने के साथ-साथ ग्राम पंचायत चारागाह बोर्ड लगाया जाए एवं मनरेगा के तहत ट्रेन्च खुदाई का कार्य किया जाए। कोटा जिले के कनवास उपखंड की विभिन्न ग्राम पंचायतों में पिछले छह माह में हजारों बीघा चारागाह और सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाया जा चुका है। अतिक्रमण हटाने के लिए पहले ग्राम पंचायत के माध्यम से ग्रामीणों से समझाइश की जाती है। ज्यादातर मामलों में लोग खुद ही अतिक्रमण हटाने को तैयार जाते हैं। कई जगह पुलिस की भी मदद लेनी पड़ती है।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned