आबकारी का सिपाही अवैध शराब बेचते गिरफ्तार, मकान को बना रखा था गोदाम

अवैध देशी शराब के 183 कार्टून बरामद

 

By: shailendra tiwari

Published: 15 Apr 2021, 06:42 PM IST

कोटा. आबकारी विभाग के जिस सिपाही को अवैध शराब की बिक्री रोकने का जिम्मा सौंपा हुआ था, उसी ने शराब का अवैध धंधा शुरू कर दिया। ताज्जुब की बात यह है कि आबकारी का सिपाही अंग्रेजी और देसी शराब के ठेकों के बीच एक मकान को अपना ठीया बनाकर वहां से अवैध रूप से शराब बेचता था। पुलिस ने बुधवार देर रात अवैध देशी शराब के 183 कार्टून यानी 8 हजार 784 पव्वे, बेची गई शराब की तीन सौ रुपए की रकम के साथ आबकारी विभाग के सिपाही सुरेन्द्रकुमार को गिरफ्तार कर लिया।
कुन्हाड़ी थानाधिकारी गंगासहाय शर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर जारी की गई गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए गश्त करते हुए कुन्हाड़ी पेट्रोल पम्प के सामने पहुंचे। जहां मुखबिर से सूचना मिली कि रजत सिटी के सामने देशी व अंग्रेजी शराब के ठेके के पास बने मकान के गेट पर एक व्यक्ति शराब की अवैध बिक्री कर रहा है। थानाधिकारी जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे, जहां दो-तीन व्यक्ति नजर आए। उनको रोकने का प्रयास किया तो वह भागने में सफल हो गए, लेकिन एक युवक पकड़ में आ गया।


धड़ल्ले से बेच रहा था

पुलिस ने पकड़े गए व्यक्ति का नाम पूछा तो उसने सुरेन्द्र कुमार यादव पुत्र बनवारीलाल यादव निवासी गादवास थाना शाहजहापुर जिला अलवर बताया। उसके सामने रखे एक कागज के एक कार्टून को चैक किया तो उसमें देशी सादा मदिरा के 48 पव्वे भरे मिले तथा सुरेन्द्रकुमार ने भी शराब बिक्री करना स्वीकार कर लिया। तलाशी में उसके पास तीन सौ रुपए मिले, जो शराब बिक्री की राशि थी। आरोपी सुरेन्द्र कुमार वर्तमान में आबकारी विभाग थाना कोटा दक्षिण में सिपाही के पद पर कार्यरत है।

शराब का गोदाम बना रखा था
पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने मकान को शराब के भण्डारण के लिए गोदाम बनाने की बात कबूल की। इस पर मकान की तलाशी ली गई। इसमें एक कमरे में देशी शराब की कुल 182 पेटियां मिली। इसमें 8 हजार 784 पव्वे रखे हुए थे, जिसे जब्त कर लिया गया। आरोपी के खिलाफ एक्साइज एक्ट में प्रकरण दर्ज किया गया है। आरोपी सुरेन्द्र कुमार से इतनी अधिक मात्रा में अवैध शराब का किराये के मकान में भण्डारण कर बेचने के संबंध में गहनता से अनुसंधान किया जा रहा है।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned