''लक्ष्य के प्रति अनुशासित और ईमानदार रहें तभी सफलता मिलेगी''

सिख एकता मंच के प्रतिभा सम्मान समारोह में जिला कलक्टर ने बताया 7 पॉइंट सक्सेस मंत्रा

 

By: Rajesh Tripathi

Published: 16 Jun 2019, 07:46 PM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा। मंच पर जिला कलक्टर मुक्तानंद अग्रवाल के हाथों सम्मान प्राप्त कर खुशी से दमकते बच्चों के चेहरे और नीचे यह दृश्य देख गर्व से फूले नहीं समा रहे अभिभावक। यह नजारा शनिवार को आईएल गुरूद्वारे में दिखाई दिया जब सिख एकता मंच द्वारा शिक्षा, खेल या अन्य किसी क्षेत्र में विशिष्ठ उपलब्धि हासिल करने वाले 60 सिख बच्चों का सम्मान किया गया।

सिख एकता मंच के सचिव डा. जसविंदर सिंह सुखमनी ने बताया कि यह पहली बार है जब कोटा में सिख बच्चों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला कलक्टर मुक्तानंद अग्रवाल थे जबकि चिकित्सा विभाग के उपनिदेशक डा. एमपी सिंह व सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक तरसेम सिंह रहे।
इस अवसर पर जिला कलक्टर ने बच्चों को 7 पॉइंट सक्सेस मंत्र भी दिया। कलक्टर ने कहा कि बच्चे अपनी क्षमता पहचान कर लक्ष्य निर्धारित करें। फिर उसकी ओर अनुशासित रहकर ईमानदारी से आगे बढ़ें। लेकिन इस दौरान अपनी सेहत का भी ध्यान रखें। ज्ञान अर्जन के लिए इंटरनेट का उपयोग करें लेकिन सोशल मीडिया से दूर रहें। परिस्थितियों कैसी भी सामने आएं कभी हिम्मत नहीं हारें तो सफलता अवश्य मिलेगी।

उन्होंने कहा कि बच्चों को उपलब्धि हासिल करने पर यदि उन्हें सम्मानित किया जाए तो वे बड़े लक्ष्य हासिल करने के लिए मोटिवेटेड होते हैं। कोटा में चूंकि सिख समाज में यह पहली बार हो रहा है तो यह अवसर और भी विशेष बन जाता है, इसके लिए सिख एकता मंच सराहना का पात्र है।

इससे पहले मंच के अध्यक्ष गुरपाल सिंह राणा, उपाध्यक्ष जगजीत सिंह जग्गी, सचिव उजागर सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन महासचिव जितेन्द्र बग्गा ने किया। आभार सचिव भूपिन्दर सिंह आनन्द ने जताया। कार्यक्रम में कोटा सेंट्रल गुरसिंह सभा के प्रधान सतपाल सिंह मनचन्दा, सचिव जितेन्द्र मोहन सिंह, गुमानपुरा गुरूद्वारे के प्रधान मोहन सिंह सेठी, गुरूद्वारा आईएल के सचिव संत सिंह, अम्बालवी सेवा संस्थान के प्रमुख गुरनाम सिंह अम्बालवी समेत बड़ी संख्या में सिख समाज के गणमान्य लोग और अभिभावक उपस्थित रहे।
बेटियों को आगे बढ़ाने का भी काम करे मंच
विशिष्ट अतिथि डा. एमपी सिंह ने कहा कि वे लम्बे अर्से से कोटा में हैं, लेकिन सिख बच्चों को सम्मान होते वे पहली बार देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिख एकता मंच बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को भी हाथ में ले।

बच्चे पढ़ें, बैंक सहयोग करेगा
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक तरसेम सिंह ने थॉमस अल्वा एडीसन का उदाहरण देते हुए कहा कि प्रारंभ में वे पढ़ाई में बेहद कमजोर थे, लेकिन बाद में उन्होंने अपने आविष्कारों से दुनिया ही बदल दी। उन्होंने कहा कि हर बच्चे की अलग क्षमता होती है। इस कारण अभिभावक उन पर कभी दबाव नहीं बनाएं। उन्होंने कहा कि बच्चे यदि उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं तो सेंट्रल बैंक उनकी हरसंभव सहायता करेगा।

एक दिन में जुड़े 800 से अधिक लोग
कार्यक्रम के दौरान सिख एकता मंच के महासचिव जितेंद्र बग्गा ने विगत डेढ़ वर्ष में की गई गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 7 अप्रेल को मंच का फेस बुक पेज लॉन्च किए जाने के बाद दो माह में भारत, अमरीका, इंग्लैण्ड, कनाडा समेत 21 देशों से 3400 लोग मंच से जुड़े थे। लेकिन प्रतिभा सम्मान समारोह के बाद महज 18 घंटे में 800 से अधिक नए लोगों ने मंच का फेसबुक पेज लाइक किया।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned