कोटा के राजीव गांधी भवन में लगी आग, सरकारी रेकॉर्ड जला

नगर निगम भवन आधुनिक तकनीक से बनाया गया है। यहां फायर फाइटिंग सिस्टम लगे होने के बाद भी वे काम नहीं आए। दमकल आने तक आग लगती रही। इस कक्ष में महत्वपूर्ण रेकॉर्ड रखा हुआ है। इसलिए आग लगने पर कई सवाल भी खड़ हो रहे हैं। यहां आग से बचाव के उपायों को लेकर घोर लापरवाही बरती जा रही है। फायर फाइटिंग सिस्टम का रख रखाव नियमित नहीं किया जा रहा है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 24 Jul 2021, 11:53 PM IST

कोटा. राजीव गांधी भवन स्थित कोटा उत्तर नगर निगम के जनस्वास्थ्य विभाग कार्यालय के रेकॉर्ड रूम में शनिवार को आग लगने से महत्वपूर्ण दस्तावेज जल गए। सफाई की निविदा प्रक्रिया से जुड़ी कई फाइलें भी जल गई। एक कम्प्यूटर पूरी तरह जल गया। फर्नीचर को भी आग से नुकसान हुआ है। आग की सूचना मिलते ही दमकल मौके पर पहुंची और आग पर काबू पा लिया। नगर निगम भवन आधुनिक तकनीक से बनाया गया है। यहां फायर फाइटिंग सिस्टम लगे होने के बाद भी कार्मिकों ने उनका उपयोग नहीं किया और दमकल आने तक आग लगती रही। आग लगने की सूचना पर कोटा दक्षिण निगम के महापौर राजीव अग्रवाल, कोटा उत्तर निगम की महापौर मंजू मेहरा और कोटा उत्तर के आयुक्त वासुदेव मालावत भी मौके पर पहुंचे। प्रथम दृष्टया शॉर्ट सर्किट से आग लगना बताया जा रहा है। इस कक्ष में महत्वपूर्ण रेकॉर्ड रखा हुआ है। इसलिए आग लगने पर कई सवाल भी खड़ हो रहे हैं। हालांकि कोटा उत्तर की महापौर मंजू मेहरा ने कहा, ऐसा नहीं लगता कि किसी ने आग लगाई होगी। कम्प्यूटर चालू रहने या शार्ट सर्किट से ही आग लगी होगी।

निगम में आग से बचाव के प्रंबंध रामभरोसे

कोटा. नगर निगमों का राजीव गांधी भवन भले की आधुनिक तकनीक और सुविधाओं से सुसज्जित है, लेकिन यहां आग से बचाव के उपायों को लेकर घोर लापरवाही बरती जा रही है। फायर फाइटिंग सिस्टम का रख रखाव नियमित नहीं किया जा रहा। यहां लगे फायर फाइटिंग उपकरणों का समय पर रख रखाव नहीं किया जा रहा है। लंबे समय से मॉक ड्रिल करके भवन की सुरक्षा भी नहीं जांची गई। निगम कार्यालय में आग लगने के बाद पत्रिका ने यहां आगे बुझाने की व्यवस्था देखी तो हालात चिंताजनक लगे। फायर फाइटिंग सिस्टम देखरेख की अभाव में बदहाल नजर आए। नगर निगम में फायर फाइटिंग सिस्टम होने के बाद भी उसका उपयोग आग बुझाने में नहीं हो पाया, ऐसा क्यों हुआ, इसकी जांच कराई जाएगी। इसमें जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

- राजीव अग्रवाल, महापौर, कोटा दक्षिण निगम

फायर फाइटिंग सिस्टम ने कार्य क्यों नहीं किया, इसकी जांच कराई जाएगी। पूरे निगम भवन में आग से बचाव के उपायों की जांच कराई जाएगी। आग स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय में लगी थी, कुछ फाइलें जल गई।

- मंजू मेहरा, महापौर, कोटा उत्तर निगम

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned