LIVE UPDATE : हाड़ौती में 40 बरस का रेकॉर्ड टूटा, चम्बल पर बनी पुलिया टूटने से राजस्थान-मध्यप्रदेश का सम्पर्क कटा

Rajesh Tripathi

Updated: 14 Sep 2019, 09:26:02 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा/झालावाड़. राजस्थान-मध्यप्रदेश की सीमा पर बहने वाली चम्बल नदी में तेज़ बहाव के कारण बीच का एक हिस्सा टूट गया। इसके साथ ही चौमहला का मंदसौर, नीमच, उदयपुर, अजमेर सहित अन्य शहरों का सम्पर्क कट गया।

. मध्यप्रदेश व हाड़ौती में हो रही भारी बारिश के बाद शनिवार को कोटा व झालावाड़ में बाढ़ के हालात बन गए। कोटा में चम्बल किनारे बसी दर्जनों कॉलोनियां जलमग्न हो गई हैं। वहीं झालावाड़ में कालीसिंध व अन्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। डग व चौमहला में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। सेना ने मोर्चा संभाल रखा है। राजस्थान-मध्यप्रदेश की सीमा पर बहने वाली चम्बल नदी में तेज़ बहाव के कारण बीच का एक हिस्सा टूट गया। इसके साथ ही राजस्थान के इस सिरे का मध्यप्रदेश से संपर्क टूट गया है। चौमहला-मंदसौर मार्ग पर बनी पुलिया टूट जाने से नीमच, उदयपुर, अजमेर सहित अन्य शहरों का सम्पर्क कट गया।

बारिश ने ठप किया दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग,कई ट्रेनों का मार्ग बदला, हजारों यात्री हुए परेशान

इधर, कोटा बैराज के 13 साल बाद सभी 19 गेट खोलकर 6 लाख 19 हजार 700 क्यूसेक पानी की निकासी की गई। इससे चम्बल किनारे बसी एक दर्जन से ज्यादा बस्तियां जलमग्न हो गई। कई मकान ढहने से लोग बेघर हो गए। जिला प्रशासन, पुलिस व एसडीआरएफ की टीम मौके पर कमान संभाले हुए हैं। लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है। एहतियातन डूब वाले इलाकों की बिजली काट दी गई है। जालोर से एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई है।

40 साल का रिकॉर्ड टूटा
कोटा में बारिश का 40 साल पुराना रिकॉर्ड टूट गया। अब तक 1385 एमएम बारिश दर्ज की गई। कोटा शहर की जलापूर्ति भी गड़बड़ा गई है। पिछले 24 घंटे में 45.2 एमएम बारिश दर्ज की गई।

कोटा बैराज के 13 साल बाद खुले सभी 19 गेट, बस्तियां जलमग्न, निकली नावें, दो मंजिला छत की दीवार गिरी

ये बस्तियां जलमग्न
कोटा की नयापुरा हरिजन बस्ती, करबला, चन्द्रघटा, दोस्तपुरा, बापू बस्ती, हनुमानगढ़ी कुन्हाड़ी, लाडपुरा समेत एक दर्जन बस्तियां जलमग्न हो गई। नयापुरा बृजराजपुरा कच्ची बस्ती के दो मकान गिर गए। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला व नगरीय विकास मंत्री शांति कुमार धारीवाल लगातार जिला प्रशासन के अधिकारियों से सम्पर्क में हंै।

मकान ढहने से युवक की मौत
बारिश के दौरान भीमनी गांव में मकान ढह गया। इसके मलबे में दबने से मान सिंह (40) की मौके पर मृत्यु हो गई।


रेल मार्ग बंद रहा

चौमहला क्षेत्र में शनिवार को छोटी कालीसिंध, चंबल, चाचूर्णी, क्षिप्रा सहित अन्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर बही। चौमहला के कुण्डला रोड, कोलवी रोड, फाटक बाहर क्षेत्र में तीन से चार फीट पानी बह रहा है। इससे रेल मार्ग पूरी तरह से बंद रहा। वहीं गंगधार उपखण्ड के भी सभी मार्ग अवरुद्ध हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned