सिर्फ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वालों को गेहूं, चना मिलेगा, बाकी तरसेंगे

डीलर, बीएलओ के चक्कर काट रहे बेरोजगार प्रवासी

By: Ranjeet singh solanki

Published: 17 Jun 2020, 11:17 PM IST


कोटा । कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए लॉक डाउन में बेरोजगार प्रवासी मजदूर व खाद्य सुरक्षा योजना से वंचित विशेष श्रेणी के परिवारों को मिलने वाले गेंहू व चना लेने के लिए ऑफलाइन आवेदन आवेदकों का डाटा पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज नहीं होने से राशन वितरण के समय गेहूं चना नहीं मिलने से खाली हाथ लौटना पड़ा। आवेदक राशन के लिए ऑफलाइन आवेदन लेने वाले बीएलओ को तलाश रहे हैं। राज्य सरकार ने लॉकडाउन काल में ढाई महीने तक कामकाज बंद होनेसे बेरोजगार हुए खाद्य सुरक्षा योजना से वंचित विशेष श्रेणी के परिवारों व बेरोजगार प्रवासी मजदूरों को दो माह के लिए गेंहू व चना वितरण के आदेश जारी किएथे। ऐसे परिवारों की पहचान के लिए क्षेत्र के पीईईओ के आदेश पर बीएलओ के माध्यम से सर्वे करवाया। ऑफलाइन आवेदन लिए गए। बीएलओ ने दो तीन दिन अपने क्षेत्रोंमें सर्वे किया। प्राप्त ऑफलाइन आवेदन संबंधित पीईईओ के पास जमा करवा दिए।इस बीच मे राज्य सरकार ने आवेदन ई मित्र केंद्रों पर ऑनलाइन करने कीसुविधा उपलब्ध कराई तो ऑफलाइन आवेदकों के अलावा अन्य लोगों ने भी ई मित्रकेंद्रों पर ऑनलाइन पंजीयन करवाया लेकिन जो आफ लाइन आवेदन कर चुकेथे उसमे अधिकांश ने ई मित्र पर जाकर अपना पंजीयन नही कराया। श्रेणी के परिवारों को 15 जून से बीएलओ,कनिष्ठ सहायक तथा ईमित्र संचालक की मौजूदगी में गेहूं व चने का वितरण शुरूहुआ। ऑफलाइन आवेदक जब खाद्यान्न लेने पहुंचे तो उनका डाटा ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज नहीं होने से पोश मशीन में उपलब्ध नहीं हुआ। ऐसे में उन्हें दो माह के लिए जारी गेहूं और चना नहीं मिल सका।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned