पूर्व बारां कलक्टर का नया ठिकाना, बैरक नंबर 24

1.40 लाख की रिश्वत मामले में गिरफ्तार पूर्व बारां कलक्टर व आईएएस अधिकारी इन्द्रसिंह राव को पीसी रिमांड की अवधि पूरी होने के बाद एसीबी ने शुक्रवार को जिला एवं सेशन न्यायाधीश योगेंद्र कुमार पुरोहित के बंगले पर 2.30 बजे पेश किया। जहां से 6 जनवरी तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।

By: Haboo Lal Sharma

Published: 26 Dec 2020, 12:11 AM IST

कोटा. 1.40 लाख की रिश्वत मामले में गिरफ्तार पूर्व बारां कलक्टर व आईएएस अधिकारी इन्द्रसिंह राव को पीसी रिमांड की अवधि पूरी होने के बाद एसीबी ने शुक्रवार को जिला एवं सेशन न्यायाधीश योगेंद्र कुमार पुरोहित के बंगले पर 2.30 बजे पेश किया। जहां से 6 जनवरी तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। जेल अधीक्षक सुमन मालीवाल ने बताया कि कैदी नं 2647 राव को जेल में बैरक नं 24 में रखा गया है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) जयपुर की विशेष टीम ने गुरुवार को राव को गिरफ्तार किया था।

कोटा मंडी 25 दिसम्बर : मंडी व किराना बाजार में भाव स्थिर रहे


एएसपी एसीबी जयपुर सीपी शर्मा ने बताया कि पूर्व जिला कलक्टर को से प्रोपर्टी के मुद्दे पर जो पूछताछ की थी, उसे रिमांड अवधि में क्लियर किया है कि कौन सी प्रोपर्टी कब खरीदी है। जो भी संपत्ति है, उसका अलग रिकार्ड बनाया जा रहा है। जिससे संपत्तियों का मिलान किया जाएगा। जिस फाइल को लेकर रिश्वत ली गई थी, उसकी डिटेल भी है।

नार्को टेस्ट व वॉइस सेम्पल के लिए किया मना

एएसपी ने बताया कि पूछताछ में सहयोग नहीं करने पर नार्को टेस्ट और वॉइस सेंपल लेने के लिए कहा था, लेकिन राव ने मना कर दिया। पूछताछ में बहुत सी बातें क्लियर नहीं हो पाई है, जांच में जरूरत पड़ी तो नार्कों टेस्ट व वॉइस सेम्पल के लिए एप्लीकेशन लगा सकते हैं।

जेल में दाखिले के समय असहज

न्यायाधीश के आदेश के बाद एसीबी टीम राव को लेकर कोटा सेन्ट्रल जेल पहुंची। तलाशी कक्ष में आरएसी के जवानों ने उनकी तलाशी ली। जेल के अन्दर जाते समय राव असहज दिखे और मीडिया से मुंह छिपाने की कोशिश करते रहे।

Award for Real Heroes Covid-19 Doctors
Show More
Haboo Lal Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned