चार साल बाद बालिका को मिले भाई-बहन, खुशी से झूम उठी

बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल की उपस्थिति में बालिका को उसके भाई और भाभी को सुपुर्द किया गया

By: Ranjeet singh solanki

Published: 19 Mar 2021, 09:20 PM IST

कोटा. मध्यप्रदेश के जावरा स्टेशन से चार साल पहले लापता हुई एक बालिका को बाल कल्याण समिति के प्रयासों से अपने माता-पिता मिल गए। जब बालिका को परिजनों को सुपुर्द किया गया तो माहौल खुशी के आंसू छलक पड़े। बाल कल्याण समिति की नियमित बैठक अध्यक्ष कनीज फातिमा, सदस्य मधुबाला शर्मा, आबिद अब्बासी, अरुण भार्गव तथा विमल जैन के सान्निध्य में आयोजित हुई। इसमें एक बालिका का प्रकरण आया। सदस्य जैन ने बताया कि यह बालिका 5 अक्टूबर 2017 से जावरा स्टेशन से गुम हुई थी। उसको रतलाम की बाल कल्याण समिति ने बालिका को कोटा की बताने के कारण 5 अगस्त 2019 को कोटा में स्थानांतरित कर दिया गया था। बालिका की काउन्सलर आरती जोशी ने काउन्सलिग की। इसके बाद बालिका के परिजनों की तलाश शुरू की। बालिका के माता-पिता का निधन हो चुका है। बालिका का भाई-भाभी एवं बहन का परिवार मिला, जिनकी बालिका ने पहचान की। बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल की उपस्थिति में बालिका को उसके भाई और भाभी को सुपुर्द किया गया।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned