गैंगरेप मामला : पुलिस उपाधीक्षक को हटाया

अब तक थानाधिकारी समेत चार अधिकारियों पर हो चुकी कार्रवाई

By: Ranjeet singh solanki

Published: 19 Mar 2021, 11:08 AM IST

कोटा. कोटा जिले के ग्रामीण क्षेत्र के एक थाना क्षेत्र में नाबालिग से हुए सामूहिक बलात्कार के मामले में अब पुलिस अधिकारियों पर लापरवाही की गाज गिरना शुरू हो गई है। राज्य सरकार ने गुरुवार को एक आदेश जारी कर गैंगरेप मामले के जांच अधिकारी व कोटा ग्रामीण के पुलिस उपाधीक्षक (महिला अपराध अनुसंधान सेल एवं विशेष किशोर इकाई) प्रमोद कुमार शर्मा का तबादला तुरंत प्रभाव से सहायक कमाण्डेंट एसडीआरएफ जयपुर में किया गया है। आदेश में तबादले का कारण प्रशासकीय आधार बताया गया है। कोटा जिला पुलिस क्षेत्र में महिला अपराध से संबंधित समस्त मामलों की निगरानी का दायित्व होता है। इस कारण तबादले को गैंगरेप की घटना से जोड़कर देखा जा रहा है। तबादले का आदेश अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (कार्मिक) अनिल पालीवाल की ओर से जारी किया गया है। इस मामले में पुलिस अब तक 16 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है और चार नाबालिग को निरुद्ध किया जा चुका है।

यह थी घटना

- पीडि़ता की मां ने 6 मार्च को ग्रामीण के एक थाने में रिपोर्ट दी थी कि 25 फ रवरी को चौथमल गुर्जर व बुलबुल नाम की महिला ने पीडि़ता को मोटरसाइकिल पर बिठा कर बैग दिलाने के नाम पर झालावाड़ के मामा भांजा चौराहे पर ले गए। चौथमल गुर्जर व महिला ने अपने मिलने वाले 3-4 लड़कों को बुलाकर पीडि़ता को उनके पास छोड़ कर आ गए। आरोपी पीडि़ता को पहले गागरोन के किले पर ले गए, फि र वहां से झालावाड़ में किसी कमरे पर ले गए। जहां पर सामूहिक बलात्कार किया। झालावाड़ व गागरोन में जगह-जगह पर अलग-अलग दिन, अलग-अलग आरोपियों ने पीडि़ता के साथ बलात्कार किया। पुलिस ने बालिका के अपहरण और बलात्कार का मामला दर्ज किया था।
- 5 मार्च को आरोपी पीडि़ता को झालावाड़ से कोटा जिले में उनके गांव छोड़कर चले गए। 6 मार्च को पीडि़ता ने अपनी मां के साथ थाने पर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस पर प्रकरण दर्ज कर तफ्तीश पुलिस उप अधीक्षक प्रमोद शर्मा ने शुरू की थी।

- 16 मार्च : नाबालिग से सामूहिक बलात्कार के मामले में लापरवाही बरतने के ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ने कोटा ग्रामीण के एक थाने के सहायक पुलिस उप निरीक्षक बाबूलाल को निलम्बित कर दिया था। थानाधिकारी नारायण को लाइन हाजिर कर दिया था।

- 17 मार्च : नाबालिग से बलात्कार झालावाड़ में हुआ था। बालिका को जब बदमाश एक कमरे में लेकर गए थे, उस दौरान मोहल्ले के लोगों ने हंगामा किया था और पुलिस मौके पर पहुंची थी, लेकिन कार्रवाई नहीं की है। इस पर लापरवाह झालावाड़ के कोतवाली थाने के सहायक पुलिस उप निरीक्षक तेजराजसिंह को निलम्बित किया गया।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned