यूडीएच मंत्री के शहर में कचरा परिवहन में गड़बड़झाला

कोटा सिटी से निकलने वाला कचरा ट्रेंचिंग ग्राउंड तक नहीं पहुंच रहा है। ठेकेदार फर्म की ओर से जहां से कचरा निकलता उसके आसपास कहीं भी डाल दिया जाता है। निगम के अधिकारी भी मौका नहीं देते, इस कारण जगह-जगह कचरा सड़ रहा है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 30 Jul 2021, 09:55 AM IST

कोटा. कोटा दक्षिण नगर निगम ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों से निकले कचरे का परिवहन नियत स्थान तक करने में हो रही गड़बड़ी के मामले में ठेकेदार फर्म को चार अलग-अलग स्थानों पर कचरा डालने के मामले में नोटिस जारी किए हैं। चारों स्थानों के लिए 25-25 हजार रुपए की पेनल्टी लगाई है। चारों जगह एक ही ठेकेदार फर्म की गड़बड़ी मिली। ऐसे में ठेकेदार फर्म से 1 लाख की राशि जुर्माने के रूप में वसूली जाएगी। यह राशि नगर निगम की ओर से ठेकेदार फर्म को किए जाने वाले भुगतान में से काट ली जाएगी। राजस्थान पत्रिका ने समाचार प्रकाशित कर कचरा परिवहन में हो रही गड़बड़ी को उजागर किया था।

निगम ने जांच में माना महामारी का खतरा
इसके बाद नगर निगम ने यह भी माना है कि जिस तरह से ठेकेदार फर्म की ओर से मनमर्जी से शहर में जगह-जगह कचरे को डाला जा रहा है। उससे शहर में महामारी फैलने का खतरा है। कोटा दक्षिण निगम की आयुक्त कीर्ति राठौड़ की ओर से मैसर्स सुखपाल सिंह कंस्ट्रक्शन को नोटिस जारी किए गए हैं। ठेकेदार फर्म ने महावीर नगर क्षेत्र से निकाले गए कचरे को आम रास्ते पर डाल दिया था। इसकी शिकायत स्थानीय पार्षद ने वीडियो रिकॉर्डिंग के साथ आयुक्त से की थी। इसी तरह बरसाती नाले से निकले कचरे को पॉलिटेक्निक कॉलेज के आसपास और औद्योगिक क्षेत्र में डाल दिया गया। इस इलाके में जगह-जगह कचरा सड़ रहा है। नगर निगम ने अपनी जांच में खुद माना कि इस कचरे के सडऩे से आम लोगों को बदबू का सामना करना पड़ रहा है। इसी तरह नए कोटा में स्थित ट्रांसफर स्टेशन से भी कचरा नहीं उठाया जा रहा है। इसके अलावा ठेकेदार फर्म ने किशोरपुरा थाने के पीछे भी कचरे का ढेर लगा दिया है, जिससे आसपास का वातावरण दूषित हो रहा है।

तीन दिन में उठाना होगा कचरा
जगह-जगह फैलाए गए कचरे की जांच नगर निगम ने स्वास्थ्य निरीक्षकों की टीम से करार्ई। इसमें ठेकेदार फर्म की घोर लापरवाही पाई गई। इसके बाद आयुक्त ने ठेकेदार को शहर में जगह-जगह पड़े कचरे को 3 दिन में उठवाकर टे्रंचिंग ग्राउंड पहुंचाने का आदेश भी दिया है।

स्वास्थ्य अधिकारी-निरीक्षक भी पाबंद
जिन-जिन इलाकों में कचरा सड़ रहा है, वहां से 3 दिन में कचरा उठवाने के लिए स्वास्थ्य अधिकारी और संबंधित मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षकों को भी पाबंद किया है। इन अधिकारियों को 3 दिन में कचरा उठवाना सुनिश्चित करना होगा। ऐसा नहीं करने पर इनके खिलाफ भी अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।

उत्तर निगम ने नहीं लिया एक्शन
कोटा उत्तर नगर निगम में नयापुरा स्थित बृज टॉकिज परिसर से समय पर कचरा नहीं उठाने के मामले में कोई एक्शन नहीं लिया है, जबकि महापौर, आयुक्त और स्वास्थ्य अधिकारी मौका देख चुके हैं। यहां कचरा सड़ रहा है।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned