एसडीएम कार्यालय में वार्डन ने छात्राओं को धमकाया, खौफ से बालिका बेहोश, अस्पताल में हुए चौंकाने वाले खुलासे

एसडीएम कार्यालय में वार्डन ने छात्राओं को धमकाया, खौफ से बालिका बेहोश, अस्पताल में हुए चौंकाने वाले खुलासे
एसडीएम कार्यालय में वार्डन ने छात्राओं को धमकाया, खौफ से बालिका बेहोश, अस्पताल में हुए चौंकाने वाले खुलासे

Zuber Khan | Updated: 12 Oct 2019, 12:45:14 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

बारां जिले में छात्रावास की छात्राएं वार्डन की शिकायत करने एसडीएम कार्यालय पहुंची तो वहां वार्डन ने उन्हें धमकाया। इससे एक छात्रा बेहोश हो गई।

छबड़ा. बारां. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस ( International Girl Child Day 2019 ) पर शुक्रवार को कस्बे के सभी निजी व सरकारी विद्यालयों में बालिकाओं के सम्मान में उन्हें विद्यालय की कमान सौंपी जा रही थी, इसी दौरान राजकीय बालिका महाविद्यालय परिसर में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय छात्रावास ( Kasturba Gandhi balika hostel ) की आठ-दस छात्राएं वार्डन के व्यवहार की शिकायत करने उपखंड कार्यालय पहुंच गई। जहां उपखंड अधिकारी नंदकिशोर राजौरा के नहीं मिलने से वे इंतजार करने लगीं, इस बीच वहां पहुंची वार्डन ने उन्हें धमकाते हुए वापस हॉस्टल चलने का दबाव बनाया। वार्डन की डांट से घबराकर ऊंचावत गांव निवासी कक्षा 12वीं की छात्रा सुमन बैरवा बेहोश हो गई। (warden Torture on Girls ) उसे उपखंड कार्यालय के कर्मचारियों द्वारा 104 एंबुलेंस से छबड़ा चिकित्सालय पहुंचा उपचार शुरू कराया है।

Read More: देखिए, 'आलस' दो युवकों को कैसे उतार गया मौत के घाट, पढि़ए, 'Time' से जुड़ा Life का कनेक्शन

फिर शुरू हो गई दौड़भाग
उपखंड अधिकारी के निर्देश पर तहसीलदार दिलीप सिंह प्रजापत ने चिकित्सालय पहुंचकर बालिका से पूछताछ की। उस वक्त वहां मौजूद वार्डन मुकलेश मीणा लगातार अपनी सफाई देते हुए बालिकाओं को झंूठलाने का प्रयास कर रही थी। बालिका ने होश में आने पर बताया कि वार्डन मीणा आए दिन छात्राओं से मारपीट करती हंै। घटिया खाना देने के साथ हॉस्टल में मूलभूत सुविधाओं का भी टोटा बना हुआ है। खाने में अक्सर जली हुई रोटियां व पतली दाल होती हैं।

रोने लगी छात्राएं
इनरव्हील क्लब की सदस्य चिकित्सालय में पहुंची और छात्रा को हिम्मत देते हुए उक्त मामले में वार्डन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। छात्रा की मां जैसे ही चिकित्सालय पहुंची तो छात्रा को देखकर फूट-फूट कर रोने लगी। छात्रा की मां ने वार्डन को हटाने की मांग की।

Read More: बॉलीवुड फिल्म अभिनेत्री और बिग बॉस फेम ने नेहरू परिवार पर की अश्लील टिप्पणी, बूंदी में केस दर्ज

जांच कमेटी गठित
देर शाम छबड़ा चिकित्सालय में उपखंड अधिकारी ने पहुंचकर छात्रा से बातचीत की और उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिलाया। उपखंड अधिकारी ने उक्त मामले को लेकर तहसीलदार के नेतृत्व में तीन सदस्य समिति गठित की और तीन दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। इसके बाद वे देर शाम हॉस्टल भी पहुंचे, जहां उन्होंने छात्राओं का हालचाल जाना। दूसरी ओर वार्डन मुकलेश मीणा का कहना है कि शिकायत करने वाली छात्रा बीमारी से ग्रस्त है। मेरे खिलाफ लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned