कोटा मंडल में सबसे तेज रफ्तार से दौड़ रही मालगाड़ियां

भारतीय रेलवे में मालगाडिय़ों की औसत रफ्तार 46.6 किमी प्रतिघंटे रही और पश्चिम मध्य रेलवे में 61 किमी प्रतिघंटे रही। वहीं कोटा मंडल में 61.9 किमी प्रतिघंटे की औसत रफ्तार से मालगाडिय़ों का संचालन हुआ।

 

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 01 Aug 2021, 12:57 PM IST

कोटा. रेलवे की ओर से मिशन रफ्तार के तहत ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने की योजना पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। पिछले तीन माह अप्रेल, मई और जून माह में कोटा मंडल देश में तेज गति से मालगाड़ी चलाने में अव्वल रहा। जुलाई 2021 में भी कोटा मंडल रफ्तार में आगे रहा है। जुलाई में भारतीय रेलवे में मालगाडिय़ों की औसत रफ्तार 46.6 किमी प्रतिघंटे रही और पश्चिम मध्य रेलवे में 61 किमी प्रतिघंटे रही। वहीं कोटा मंडल में 61.9 किमी प्रतिघंटे की औसत रफ्तार से मालगाडिय़ों का संचालन हुआ। कोटा मंडल के डीआरएम पंकज शर्मा ने बताया कि इंफ्रास्ट्रेक्चर मजबूत होने के कारण रफ्तार बढ़ाया जाना संभव हुआ है। इसके अलावा लूप लाइनों पर भी रफ्तार में इजाफा किया है। रनिंग कर्मचारियों के बदलाव का समय बचाने के लिए के्रक ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। इनमें रास्ते में चालक दल और गार्ड बदलने की जरूरत नहीं पड़ती। अब कोटा मंडल में 98.59 प्रतिशत ट्रेनों का समय पर संचालन हो रहा है।

संरक्षा मजबूत हुई
मालगाडिय़ों की रफ्तार बढऩे के साथ रनिंग कर्मचारियों को पर्याप्त आराम मिलने लगा है। अब 96 प्रतिशत से ज्यादा चालक और गार्ड को निर्धारित 9 घंटे से ज्यादा कार्य करना नहीं पड़ रहा है। वर्ष 2019-20 में केवल 64 प्रतिशत ही चालक और गार्डों को पूरा विश्राम मिल रहा था, बाकी को निर्धारित घंटों से ज्यादा समय तक ट्रेन चलानी पड़ रही थी। डीआरएम शर्मा ने बताया कि इससे रेलवे संरक्षा मजबूत हुई है।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned