सरकार ने दिया कोटा महापौर को नोटिस, क्यों डलवाई 'अपने स्कूल' के पास वाले पार्क में मिट्टी

Deepak Sharma

Updated: 15 Oct 2019, 06:25:57 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

Government gave notice to kota mayor

1/2

Government gave notice to kota mayor

कोटा. राज्य सरकार ने रीको के इन्द्रप्रस्थ औद्योगिक क्षेत्र में एक पार्क में नगर निगम के माध्यम से लाखों रुपए की मिट्टी डलवाने के मामले में महापौर महेश विजय को जिम्मेदार माना है। महापौर से इस बारे में 15 दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है। इस मामले दो सहायक अभियंता व एक कनिष्ठ अभियंता से भी जवाब तलब किया है।

नोटिस में यह बताई अनियमितताएं
स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक एवं संयुक्त सचिव की ओर से जारी नोटिस में कहा है कि निदेशालय स्वायत्त विभाग की ओर से गठित कमेटी की जांच रिपोर्ट के अनुसार निगम की ओर से मैसर्स वरदान ट्रेडर्स को 29 लाख 29 हजार 518 रुपए का विभिन्न पार्कों में मिट्टी भरने का कार्यादेश दिया गया था। जिसमें रीको औद्योगिक क्षेत्र में स्थित नालंदा एकेडमी स्कूल के पश्चिम दिशा में स्थित पार्क में भी मिट्टी डलवाई गई है। जबकि यह पार्क निगम का नहीं होकर रीको के स्वामित्व की भूमि का है।

इस कार्य के लिए रीको का कोई मांग पत्र भी नहीं मिला और न ही रीको से एनओसी ली गई। यह पार्क आबादी की पहुंच क्षेत्र से दूर है। जिसमें आम जनता के उपयोग की संभावना कम है।

स्कूल प्रबंधन की ओर से पार्क में लगभग 14 फीट चौडा़ई का दरवाजा निकाला हुआ है। इस प्रकार यह कार्य स्कूल विशेष अर्थात नालंदा एकेडमी स्कूल को लाभ पहुंचाने के लिए करवाया गया है।

पार्क में कार्य करवाने से पहलेे नालंदा एकेडमी स्कूल का गेट बंद करवाया जाना आवश्यक था। फिर भी लाभ पहुंचाने की नियत से स्कूल का दरवाजा बंद करवाए बिना निगम के राजस्व से रीको पार्क में मिट्टी डलवाने का कार्य करवाया गया है।

जिसके लिए आप (महापौर) जिम्मेदार है। इस अनियमितताओं के क्रम में जांच रिपोर्ट भी भेजी गई हैं। नोटिस में कहा कि जांच रिपोर्ट के आरोपों के संबंध में 15 दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें। नोटिस में कहा कि निर्धारित अवधि में जवाब नहीं दिया गया तो राजस्थान नगर पालिका अधिनियम 2009 की धारा 39 के प्रावधानों के अन्तर्गत कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि नालंदा एकेडमी स्कूल महापौर से जुड़े शिक्षा समूह का है।

आयुक्त के आदेशों की पालना नहीं की
सहायक अभियंता मोतीलाल चौधरी, अब्दुल कय्युम कैरशी तथा कनिष्ठ अभियंता तौफिक अहमद से भी स्पष्टीकरण मांगा गया है। नोटिस में कहा कि आयुक्त ने आदेश की पालना नहीं करने तथा निजी स्कूल के फायदे के लिए मिट्टी डलवाने का जिम्मेदार माना है।

जनता अर्जी लेकर आती है तो मैं तो अनुशंसा कर देता हूं : महापौर
निगम चुनाव के वक्त सरकार ने द्वेषता के चलते रीको पार्क में मिट्टी डलवाने के संबंध में नोटिस दिया है, जो अनुचित है। जनता अर्जी लेकर आती है तो मैं तो महापौर के नाते काम करने की अनुशंसा कर देता हूं। रीको पार्क में भी यही स्थिति थी। पार्क सभी के उपयोग के लिए है। आयुक्त ने परीक्षण करने के बाद ही अलग-अलग पार्कों में मिट्टी डलवाने का कार्यादेश दिया था। शहर के कई वार्डों की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि वहां अलग-अलग सरकारी एजेन्सियां काम करती है। जनहित में पार्क और सड़कों का काम किया जाता है।
महेश विजय महापौर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned