कोटा में स्कूल, कोचिंग शुरू करो सरकार

कोटा में स्कूल व कोचिंग में क्लासरूम की पढ़ाई शुरू करने की मांग को लेकर अब शहरवासी सड़कों पर उतरना शुरू हो गए हैं। शहर के विभिन्न संगठनों ने आंदोलन करने के लिए कोटा बचाओ संघर्ष समिति का गठन किया है।

 

 

 

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Nov 2020, 02:21 PM IST

कोटा. कोटा में स्कूल व कोचिंग में क्लासरूम की पढ़ाई शुरू करने की मांग को लेकर अब शहरवासी सड़कों पर उतरना शुरू हो गए हैं। शहर के विभिन्न संगठनों ने आंदोलन करने के लिए कोटा बचाओ संघर्ष समिति का गठन किया है। समिति के बैनर तले शुक्रवार को बड़ी संख्या में संगठनों के पदाधिकारियों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ को ज्ञापन दिया। प्रदर्शन करने वालों में शहर के हॉस्टल, पीजी, मैस संचालक, व्यापारिक संस्थाओं के प्रतिनिधि, ऑटो चालक यूनियन के सदस्य तथा फु टकर व्यवसायी शामिल थे। कोटा बचाओ संघर्ष समिति के सदस्य हाथों में शिक्षण संस्थान खोलो सरकार, कोटावासी को गए बेरोजगार जैसी तख्तियां लिए हुए थे। सदस्यों ने कहा कि कोटा में जल्द क्लासरूम कोचिंग शुरू की जाए। कोटा पूरी तरह से कोचिंग संस्थानों पर निर्भर है, यहां की अर्थव्यवस्था का पहिया कोचिंग संस्थानों में पढऩे वाले स्टूडेंट्स के माध्यम से ही चलता है। कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के चलते मार्च से ही कोटा में कोचिंग की गतिविधियां बंद है। 8 माह से अधिक समय से कोचिंग की गतिविधियां बंद होने के कारण कोटा में कोचिंग स्टूडेंट्स नहीं आ रहे हैं। यहां कोचिंग के साथ-साथ हॉस्टल्स बंद है। पीजी रूम्स खाली पड़े हैं, मैस बंद हैं, यही नहीं कोचिंग क्षेत्रों में छोटी-छोटी दुकानों से लेकर चाय-पोहे के ठेले वालों तक का रोजगार खत्म हो गया है। एक लाख से अधिक लोगों के परिवार सीधे तौर पर कोचिंग संस्थान बंद होने के कारण प्रभावित हो रहे हैं। आर्थिक तंगी के चलते लोगों का घर चलाना मुश्किल हो रहा है। हॉस्टल संचालकों के समक्ष बैंक लोन की किस्तें देना चुनौती हो गया है। लोग गांवों में पलायन को मजबूर हो गए हैं। घर-परिवार चलाने के लिए लोगों को मजदूरी करनी पड़ रही है। तमाम विपरीत परिस्थितियों के चलते कोटा का अस्तित्व खतरे में है। ऐसे में कोटा में जल्द कोचिंग शुरू की जाए। यदि कोटा में स्कू  ल, कोचिंग शुरू नहीं होते तो वह आगामी दिनों में उग्र आंदोलन करेंगे।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned