ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे कोटा में लाएगा कई बदलाव

भारतमाला परियोजना के तहत 8 लेन ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण पूरा होने के बाद कोचिंग सिटी कोटा में कई तरह के बदलाव आने की उम्मीद जगी है। यहां आने वाले विद्यार्थियों के सफर के घंटे कम हो जाएंगे। रेल सुविधा के अलावा सड़क मार्ग का भी विकल्प उपलब्ध होगा।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 17 Sep 2021, 11:45 PM IST

कोटा. भारतमाला परियोजना के तहत 8 लेन ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण पूरा होने के बाद कोचिंग सिटी कोटा में कई तरह के बदलाव आने की उम्मीद जगी है। यहां आने वाले विद्यार्थियों के सफर के घंटे कम हो जाएंगे। रेल सुविधा के अलावा सड़क मार्ग का भी विकल्प उपलब्ध होगा। एक्सप्रेस-वे बनने के बाद कोटा और हाड़ौती के अन्य जगहों पर पैदा होने वाले लहसुन, सोयाबीन, चावल और गेहूं को देश के बड़े शहरों तक कम समय में पहुंचाया जा सकेगा। उद्योगों के लिए कच्चा कम समय में पहुंच सकेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक्सप्रेस-वे के दो दिसवीय दौरे के दौरान कहा, आर्थिक विकास और रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए आधुनिक और उच्च गुणवत्ता वाली सड़कों के नेटवर्क के महत्व पर जोर दिया जा रहा है। राजस्थान और मध्यप्रदेश के बाद शुक्रवार को गुजरात के भरूच खंड में काम की प्रगति का जायजा लिया। उन्होंने दूसरे दिन मीडिया के साथ बातचीत के दौरान दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के बारे में कहा कि एक्सप्रेस-वे न केवल दिल्ली और मुंबई के बीच बल्कि अन्य प्रमुख शहरों के बीच यात्रा के समय को भी कम करेगा। गडकरी ने कहा कि गुजरात में 35100 करोड़ रुपए की लागत से 423 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। इसके साथ ही इस एक्सप्रेस-वे के तहत राज्य में 60 बड़े पुल, 17 इंटरचेंज, 17 फ्लाईओवर और 8 रोड ओवरब्रिज (आरओबी) बनाए जाएंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे पर विश्व स्तरीय परिवहन सुविधाएं प्रदान करने के साथ-साथ राज्य में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए 33 वेसाइड सुविधाएं भी बनाने का प्रस्ताव है। यात्रा के दौरान गडकरी ने उस स्थान का भी निरीक्षण किया। जहां फरवरी 2021 में एक दिन में सबसे तेज सड़क निर्माण का विश्व रेकॉर्ड बनाया गया था। उन्होंने भरूच के पास नर्मदा नदी पर बने प्रतिष्ठित पुल का भी निरीक्षण किया। 2 किमी लंबा यह एक्सट्रेडोज्ड केबल स्पैन ब्रिज एक्सप्रेस-वे पर बनने वाला भारत का पहला 8 लेन का पुल होगा। भरूच के पास प्रतिष्ठित इंटरचेंज के साथ यह परियोजना देश में एक्सप्रेस-वे विकास का चेहरा बन जाएगी।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned