जेके लोन अस्पताल में शिशु औषध विभाग में विभागाध्यक्ष ने पद्भार संभाला

जेके लोन अस्पताल में शुक्रवार को शिशु औषध विभाग में डॉ. अमृता मयंगर ने विभागाध्यक्ष का पद्भार ग्रहण किया। डॉ. अमृता इस पद पर राज्य की सबसे कम आयु की विभागाध्यक्ष है तथा शिशु रोग विशेषज्ञ की रूप में ख्यात हैं।

 

 

By: Abhishek Gupta

Published: 26 Dec 2020, 01:18 PM IST

कोटा. जेके लोन अस्पताल में शुक्रवार को शिशु औषध विभाग में डॉ. अमृता मयंगर ने विभागाध्यक्ष का पद्भार ग्रहण किया। डॉ. अमृता इस पद पर राज्य की सबसे कम आयु की विभागाध्यक्ष है तथा शिशु रोग विशेषज्ञ की रूप में ख्यात हैं।
मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना, आरएनटी उदयपुर के प्रिंसिपल डॉ. लाखन पोसवाल, अस्पताल अधीक्षक डॉ. अशोक मूंदड़ा, उपाधीक्षक डॉ. गोपी किशन शर्मा, डॉ. पंकज सिंघल ने पद्भार ग्रहण करवाया। इस मौके पर डॉ. अमृता मयंगर ने कहा कि अस्पताल में नवजात बच्चों व मां को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी। नवजात बच्चों में मृत्युदर को कम करने की प्राथमिकता रहेगी। एनआईसीयू में बेड बढ़ा दिए है। ४० बेड का नया एनआईसीयू बनेगा। सरकार ने भी प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। कुछ १७ बेड मदर वार्ड में भी बढ़ाए है।

वहां मदर के साथ बेबी रहेंगे। इससे एक वार्मर पर एक ही बच्चा रहेगा। राज्य सरकार ने पर्याप्त नर्सिंग स्टाफ व डॉक्टर भी लगा दिए है। सीनियर डॉक्टर पोस्टनेटल वार्ड में प्रतिदिन राउंड करेंगे। लेबर रुम में एक डॉक्टर पूर्णकालीक उपस्थित रहेगा। यहां जो भी बच्चा पैदा होगा, उसे सीधे शिशु रोग विशेषज्ञ ही देखेगा। नए के बाद जल्द पुराना एनआईसीयू का भी रिनोवेशन होगा। यहां संक्शन व कम्प्रेशर भी लगेगा। इससे बिजली व अन्य लोड नहीं बढ़ेगा। वार्ड में भर्ती बच्चों के बेड पर ही सेम्पल लेने की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए एक टेक्निशियन लगाया जाएगा।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned