अब होमगार्ड जवानों को ट्रेनिंग पीरियड में मिलेगा अब दोगुना भत्ता

- डीजी राजीव दासोत
- होमगार्ड कार्यालय व ग्राउंड कर किया निरीक्षण

By: Mukesh

Published: 08 Oct 2020, 10:20 PM IST

कोटा. राज्य के होमगार्ड पुलिस महानिदेशक राजीव दासोत ने गुरुवार को एक दिवसीय दौरे के दौरान होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय व परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार ने होमगाड्र्स का प्रशिक्षण भत्ता दोगुना कर उन्हें दूसरा तोहफा दिया है। इससे पहले होमगार्ड का मानदेय भी दोगुने से अधिक बढ़ाया गया था।

तुमने तो कमाल कर दिया बादो राव -
डीजी होमगार्ड राजीव दासोत ने गुरुवार को होमगार्ड कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने यहां की सफाई व्यवस्था पौधरोपण व विकास कार्य की प्रशंसा की। इस दौरान उन्होंने कार्यालय में रेकार्ड का भी निरीक्षण किया। कार्यालय के निरीक्षण के बाद उन्होंने ग्राउंड व शौचालयों का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा यहां तो सबकुछ बदल गया।

होमगाड्र्स को सरकार का दूसरा तोहफा -
उन्होंने कहा कि होमगार्ड के जवानों के लिए हाल में सरकार ने प्रशिक्षण के दौरान मिलने वाले भत्ते को १०० रुपए से सीधे दोगुना करते हुए २०० रुपए कर दिया है। उन्होंने बताया कि इसका लाभ राज्य भर के जिलों में स्थित प्रशिक्षण केन्द्रों पर होमगाड्र्स का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे करीब तीस हजार जवानों को मिलेगा। इससे पहले राज्य सरकार ने होमगाड्र्स का दैनिक भत्ता भी ३२५ रुपए से बढ़ाकर ६९३ रुपए प्रतिदिन किया था। प्रशिक्षण भत्ता बढ़ाना होमगाड्र्स जवानों को दूसरा तोहफा है। इस दौरान डीजी दासोत ने सराहनीय कार्य करने वाले होमगार्ड अधिकारियों व कर्मचारियों के नाम भी मांगे।

अधिकारियों से की मुलाकात -
इस दौरान राजीव दासौत ने डीआईजी रवि दत्त गौड़, कलक्टर उज्जवल राठौड़, सिटी एसपी गौरव यादव, ग्रामीण एसपी शरद यादव, एएसपी सिटी प्रवीण कुमार जैन, ग्रामीण एएसपी पारस जैन, होमगार्ड कंपनी कमांडर सीमा पारीक, सहायक लेखाधिकारी प्रवीण जैन, प्लाटून कमांडर घनश्याम मेहरा समेत स्वयंसेवकों से भी बातचीत की। उन्होंने एएसपी एसीबी ठाकुर चन्द्रशील, एएसपी उमा शर्मा, वृताधिकारी भगतव सिंह हिंगड व संजय शर्मा से भी चर्चा की। उन्होंने शहर की कानून व्यवस्था समेत अन्य विभागीय विषयों पर चर्चा की।

कोटा से रहा है विशेष जुड़ाव -
डीजी दासोत का कोटा से विशेष जुड़ाव रहा है। वे यहां प्रशिक्षु आईपीएस के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक व पुलिस महानिदेशक के पद पर कार्य कर चुके है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned