खाली हुआ अस्पताल, फिर कोरोना मरीजों से भरा

कोटा. शहर में एक बार फि र कोरोना वायरस ने रफ्तार पकड़ी है। अनलॉक-1 में जहां संक्रमण की रफ्तार धीमी थी, लेकिन 22 जून से कोरोना का संक्रमण तेजी से बढऩे लगा है। हालात यह है कि 9 दिन में ही कोरोना संक्रमितों का अनचाहा शतक लग गया है।



By: Abhishek Gupta

Published: 01 Jul 2020, 01:43 PM IST

कोटा. शहर में एक बार फि र कोरोना वायरस ने रफ्तार पकड़ी है। अनलॉक-1 में जहां संक्रमण की रफ्तार धीमी थी, लेकिन 22 जून से कोरोना का संक्रमण तेजी से बढऩे लगा है। हालात यह है कि 9 दिन में ही कोरोना संक्रमितों का अनचाहा शतक लग गया है। आंकड़ा 100 के पार पहुंच गया है। इन 9 दिनों में 116 मरीज सामने आ चुके है। आंकड़ों के हिसाब से पिछले 9 दिन में औसत 12 मरीज प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मिल रहे है। इससे खाली हो चुका कोविड़ अस्पताल फिर से मरीजों से भर गया। चिकित्सा विभाग के आकंडों पर नजर डाले तो 21 जून तक 555 पॉजिटिव केस थे, लेकिन 22 जून से 30 जून दोपहर तक ये आंकड़ा बढ़कर 668 तक जा पहुंचा। जबकि शहर की दो दर्जन से ज्यादा नई कॉलोनियों में कोरोना वायरस पहुंच गया है। अनलॉक-1 में मिली छूट का ही नतीजा है कि अब पॉश कॉलोनियां भी कोरोना वायरस से अछूती नहीं है। लगातार बढ़ते आंकड़ों ने चिकित्सा विभाग की भी चिंता बढ़ा रखी है। चिकित्सा विभाग की 15 टीमें शहर के अलग-अलग इलाकों से सेम्पलिंग कर रही है।

ऐसे बढ़ी रफ्तार...

- 9 दिन 116 पॉजिटिव- 3 डेथ
तारीख पॉजिटिव डेथ22 जून 8 123 जून 4 124 जून 11 025 जून 9 026 जून 32 027 जून 13 028 जून 10 129 जून 16 030 जून 12 0

आंकड़ों से समझे...

कोटा में पहली बार 100 पॉजिटिव के 16 दिन में आए। उसके बाद 100 से 200 होने में 13 दिन का वक्त लगा। 200 से 300 होने में 14 दिन, 300 से 400 तक पहुंचने 12 दिन लगे। जबकि 400 से 500 का आंकड़ा पहुंचने में केवल 6 दिन का वक्त लगा। जबकि 1 जून से 30 जून तक 30 दिन में 668 पॉजिटिव हो चुके है।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned