scriptHow to create self-employment, plan of help is only a dream | कैसे सृजित हो स्वरोजगार, मदद की योजना केवल ख्वाब | Patrika News

कैसे सृजित हो स्वरोजगार, मदद की योजना केवल ख्वाब

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत राजस्थान में पिछले तीन सालों में 49 हजार 28 आवेदन आए, लेकिन लाभ केवल 8 हजार 155 को ही मिल पाया। इनमें कोटा जिले में बीते तीन साल में मात्र 308 को ही स्वरोजगार का लाभ मिल पाया है।

कोटा

Updated: December 31, 2021 11:21:35 pm

जग्गोसिंह धाकड़
कोटा. एक तरफ रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए राज्य सरकार हर जिला स्तर पर इन्वेस्टर मीट का आयोजन कर रही है। इसमें निवेशकों को आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ पहले से चल रही स्वरोजगार की योजना का लाभ 25 प्रतिशत आवेदकों को भी नहीं मिल पा रहा है। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत राजस्थान में पिछले तीन सालों में 49 हजार 28 आवेदन आए, लेकिन लाभ केवल 8 हजार 155 को ही मिल पाया। इनमें कोटा जिले में बीते तीन साल में मात्र 308 को ही स्वरोजगार का लाभ मिल पाया है। देशभर की बात करें तो पिछले तीन सालों में 13 लाख 17 हजार 806 आवेदन आए। पीएमईजीपी क्रेडिट से जुड़ी सहायता योजना है, जो सूक्ष्म उद्यमों की स्थापना के माध्यम से स्वरोजगार को बढ़ावा देती है। इसमें एमएसएमई मंत्रालय के माध्यम से सरकार विनिर्माण क्षेत्र में 25 लाख और सेवा क्षेत्र में 10 लाख रुपए तक के ऋ ण पर 35 प्रतिशत तक छूट दी जाती है। आवेदनों के डेटा विश्लेषण से पता चला कि बड़ी संख्या में बैंकों की ओर आवेदन खारिज कर दिए जाते हैं या फिर आवेदक बैंकों के चक्कर काटते रहते हैं।
uko.jpg
ये राजस्थान की स्थिति
-वर्ष 2020-21 में 14 हजार 559 आवेदन आए। इनमें से 2772 आवेदकों को योजना का लाभ मिला।
-वर्ष 2019-20 में19 हजार 973 आवेदन आए। इनमें से 3024 आवेदकों को योजना का लाभ मिला।
-वर्ष 2018-19 में 14 हजार 496 आवेदन आए। इनमें से 2359 आवेदकों को लाभ मिला।
हाड़ौती का हाल : लाभांवित एक नजर
वित्तीय वर्ष कोटा बारां बंूदी झालावाड़
2018-19 100 69 46 77
2019-20 125 80 76 122
2020-21 83 58 74 126

इनका कहना है
प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) उद्योग विभाग, खादी ग्रामोद्योग विभाग और खादी बोर्ड के माध्यम से संचालित हो रही है। तीनों के लक्ष्य भी अलग-अलग हैं। ऋण और सब्सिडी बैंक के माध्यम से मिलती है।
सीताराम पूनिया, महाप्रबंधक, जिला उद्योग केन्द्र, कोटा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Army Day 2022: सेना प्रमुख MM Naravane ने दी चीन को चेतावनी, कहा- हमारे धैर्य की परीक्षा न लेंUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावUttar Pradesh Assembly Elections 2022: टूटेगी मायावती और अखिलेश की परंपरा, योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से लड़ेंगे विधानसभा चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up DayHaryana: सरकार का निर्देश, बिना वैक्सीन लगाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्रीUP Election: सपा RLD की दूसरी लिस्ट जारी, 7 प्रत्याशियों में किसी भी महिला को नहीं मिला टिकटजम्मू कश्मीर में Corona Weekend Lockdown की घोषणा, OPD सेवाएं भी रहेंगी बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.