scriptHydroelectric power house will get new life, real life time survey | पनबिजली घर को मिलेगा नया जीवन, रियल लाइफ टाइम सर्वे | Patrika News

पनबिजली घर को मिलेगा नया जीवन, रियल लाइफ टाइम सर्वे

250 करोड़ खर्च का अनुमान 10 दिन में जारी होगी रिपोर्ट

पहले दिन चार पेनस्टॉक गेटों की मरम्मत की गई

 

कोटा

Published: June 09, 2022 10:02:22 pm

कोटा.रावतभाटा. सब कुछ ठीक रहा तो राणा प्रताप सागर बांध स्थित राणा प्रताप सागर पन बिजलीघर का कायाकल्प हो जाएगा। करीब छह दशक पूर्ण कर चुका बाद 60 साल पुराना पन बिजली घर एक नए प्रोजेक्ट की तरह विद्युत उत्पादन करेगा। रांची की मैक्रोन कंपनी इन दिनों पन बिजली घर का रियल लाइफ टाइम सर्वे कर रही है।
पनबिजली घर को मिलेगा नया जीवन, रियल लाइफ टाइम सर्वे
पनबिजली घर को मिलेगा नया जीवन, रियल लाइफ टाइम सर्वे
कंपनी के उप महाप्रबंधक आरके सिन्हा की देखरेख में पन बिजली घर की उम्र कितनी बाकी है, 60 सालों में टरबाइन और सिविल स्ट्रक्चर पर क्या प्रभाव पड़ा है समेत अन्य बिंदुओं पर रिपोर्ट तैयार की जा रही है। इस रिपोर्ट मेंआवश्यक जरूरी आवश्यक बदलाव , कौनसे नए उपकरण लगाए सम्बिन्धत सुझाव भी दिए जाएंगे।
नवजीवन में 250 करोड रुपए खर्च का अनुमानपन बिजली घर के नव जीवन के लिए 250 करोड रुपए खर्च होने का अनुमान है। पन बिजली घर में 43,_43 मेगावाट की 4 इकाइयां हैं। इनमें से दो इकाइयां चल रहीं है और दो बंद पड़ी है । 2019 में बांध का पानी भरने से जलमग्न हुई। इकाईया ठप पड़ी थी। 31 दिसंबर 2021 को इकाई 1 को पुन शुरू किया गया। वही चौथी गई 8 जून 2022 को शुरू की गई।
शुरू हुआ सर्वेगुरुवार को पन बिजलीघर की चारों इकाइयों का सर्वे शुरू हुआ। मैक्रोन कंपनी के गोताखोर बांध के टॉप लेवल से 160 फीट नीचे गहराई उतरे और चार पेनस्टॉक गेटों के रिसाव की मरम्मत में जुट गए। शुक्रवार को बिजली निर्माण के बाद छोड़े गए पानी के गेटों के मरम्मत का कार्य होगा।
क्या है पेनस्टॉक गेटपन बिजली घर बांध के निचली सतह पर है। बांध के ऊपर चार पेनस्टॉक गेट है। हर गेट से पन बिजली घर की अलग-अलग यूनिट को पानी पहुंचता है। हर यूनिट की असेसमेंट की शुरुआत में मैक्रोन कंपनी के गोताखोर इन्हीं पेनस्टॉक गेट के अंदर गए।
किसी गेट में 80 फ़ीसदी रिसाव मिला और किसी में 95 फ़ीसदी मिला, लेकिन कंपनी ने अपना अनुभव से 1 दिन में 4 गेटों की मरम्मत कर डाली। कंपनी रियल टाइम लाइफ एसेसमेंट जिसे तकनीकी भाषा में आरएलपी कहते हैं की रिपोर्ट 10 दिनों के भीतर निगम को सौंपेगी। रिपोर्ट पर मंथन के बाद राज्य सरकार को प्रस्ताव भिजवाए जाएंगे। मंजूरी मिलते ही पन बिजली घर के नवजीवन के लिए निविदाएं आमंत्रित की जाएंगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Assembly Speaker Election: महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर का चुनाव आज, भाजपा और महा विकास अघाड़ी के बीच सीधी टक्करराहुल गांधी के बयान को उदयपुर की घटना से जोड़ा, जयपुर में रिपोर्ट दर्जMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा स्पीकर चुनाव के लिए एकनाथ शिंदे ने आदित्य ठाकरे सहित शिवसेना विधायकों को जारी किया व्हीपहैदराबाद : बीजेपी की बैठक का आज दूसरा दिन, पीएम मोदी करेंगे संबोधितMaharashtra Politics: सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम फडणवीस को गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी ने खिलाई मिठाई, तो चढ़ गया सियासी पारा!विदेश में छूट्टी मना रहे Kapil Sharma पर आई 7 साल पुरानी मुसीबत, इस चक्कर में कॉमेडियन के खिलाफ हुआ केस दर्जChar Dham Yatra 2022: चार धामा यात्रा को लेकर आई बड़ी खबर, केदारनाथ धाम गर्भगृह के दर्शन पर लगा प्रतिबंध हटाNIA की टीम ने केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए महाराष्ट्र के अमरावती का किया दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.