कोरोना का दर्द: महाराष्ट्र जाना है तो 48 घंटे पहले जांच कराओ

कोरोना संक्रमण के कारण कई राज्यों ने संदिग्ध यात्रियों के राज्य में प्रवेश पर रोक लगा दी है। राजस्थान से महाराष्ट्र जाने से पहले कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट साथ ले जाना आवश्यक है। वहीं राजस्थान आने पर भी की इसकी जरूरत पड़ रही है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 20 Apr 2021, 03:47 AM IST

कोटा. राजस्थान राज्य से महाराष्ट्र के मुंबई, लोकमान्य तिलक टर्मिनस, दादर, मुंबई सेंट्रल, पुणे या महाराष्ट्र के किसी भी रेलवे स्टेशन जाने वाले यात्रियों के लिए कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट होना आवश्यक है। रेलवे के अनुसार 48 घंटे पहले की आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट साथ में रखना जरूरी है। ऐसा नहीं करने पर परेशानी हो सकती है। कोटा के वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक अजय कुमार पाल ने बताया कि महाराष्ट्र सरकार की ओर दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। इनके अनुसार कोरोना पॉजिटिव और संदिग्धों की राज्य में प्रवेश की अनुमति नहीं है। नेगेटिव रिपोर्ट नहीं ले जाने वाले यात्रियों को महाराष्ट्र पहुंचने के बाद 15 दिन तक होम क्वारेंटाइन रहना पड़ेगा। बिना आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट वाले यात्रियों का गंतव्य स्टेशन पर रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा। लक्षण सामने आने या पॉजिटिव आने पर 15 दिनों के लिए क्वारेंटाइन रहना पड़ेगा। इसी तरह राजस्थान सरकार ने भी बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है। ऐसे में बहुत आवश्यक होने पर ही लोग यात्रा कर रहे हैं। महाराष्ट्र में फंसे अन्य राज्यों को लोगों को अपने घरों तक पहुंचाने के लिए कई अतिरिक्त टे्रनों का संचालन भी किया जा रहा है। कोटा जंक्शन पर बाहर से आने वाले यात्रियों की कोविड जांच की जा रही है।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned