कोटा में अवैध बजरी से गर्म हो रही खनन माफिया की जेब, ठंड में ठिठुर गई टास्क फोर्स

Illegal Bajri, Illegal gravel mining, police, Mining Department: डीसीएम फ्लाईओवर के नीचे पसरी अवैध बजरी मंडी खनन माफिया के खिलाफ प्रशासनिक मुस्तैदी की कलई खोल रही है।

By: ​Zuber Khan

Published: 08 Dec 2019, 10:00 AM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. डीसीएम फ्लाईओवर के नीचे पसरी अवैध बजरी मंडी खनन माफिया के खिलाफ प्रशासनिक मुस्तैदी की कलई खोल रही है। ( Illegal gravel mining ) खनन माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए गठित पुलिस ( police ) , राजस्व, ( Revenue Department ) परिवहन और खनन विभाग ( Mining And Transport Department ) की टास्क फोर्स की मुस्तैदी की बात तो छोडि़ए डेढ़ किमी के दायरे में एक थाना और दो पुलिस चौकियां होने के बावजूद बजरी माफिया धड़ल्ले से रेत की ट्रॉलियों का मोल-भाव कर रहे हैं।

Read More: 50 हजार दे और मजे से कर बजरी का अवैध परिवहन, 25 हजार की रिश्वत लेता सीआई रंगे हाथ गिरफ्तार

अवैध खनन और अवैध बजरी की खरीद-फरोख्त रोकने के लिए जिला कलक्टर ने राजस्व, पुलिस, परिवहन और खनन विभाग के अफसरों की टास्क फोर्स गठित कर रखी है, लेकिन यह कागजी साबित हो रही है। फोर्स सर्दियों में ऐसी ठिठुरी है कि कार्रवाई करने के लिए दफ्तरों से बाहर ही नहीं निकल पा रही है।

Read More: पुलिस और वन विभाग की खुफिया रणनीति पर 'भेदियों' ने फेरा पानी, टीम पहुंचने से पहले ही ट्रैक्टर-ट्रॉलियां ले भागे खनन माफिया

कुन्हाड़ी पेट्रोल पम्प से लेकर नयापुरा बस स्टैंड होते हुए एरोड्रम और डीसीएम फ्लाईओवर के नीचे तक शनिवार दोपहर को सड़क पर बिखरी बजरी इसकी चुगली करती नजर आई। चम्बल ब्रिज और डीसीएम रोड पर आईटीआई के सामने बजरी इतनी ज्यादा थी कि कई दुपहिया वाहन चालक फिसल कर गिर गए। सड़क पर बेतरतीब बिखरी बजरी का पीछा करते हुए पत्रिका टीम जब डीसीएम फ्लाईओवर तक पहुंची तो उसके नीचे अवैध बजरी से भरी दर्जनभर से ज्यादा ट्रैक्टर-ट्रॉलियां बिक्री के लिए तैयार खड़ी थीं।

Read More: बूंदी पुलिस की बड़ी कार्रवाई: बजरी से भरे 5 ट्रक, 2 ट्रेलर, 2 ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त, माफियाओं में मचा हड़कम्प

धड़ल्ले से बिक रही
डीसीएम फ्लाईओवर के नीचे खड़े ट्रैक्टर चालकों ने बताया कि बनास से बजरी ट्रक के जरिए कोटा के बाहरी इलाकों तक आती है। इन ट्रकों को कुन्हाड़ी पेट्रोल पंप के पास, घोड़ा सर्किल, कोटा यूनिवर्सिटी, अग्निशमन चौराहा और टीवीएस सर्किल के पास लाकर ट्रॉलियों में खाली कर दिया जाता है, फिर ट्रॉलियों से ये बजरी लोकल मार्केट में भेजी जाती है। शनिवार को 6 ट्रॉली बनास की बजरी कुन्हाड़ी से लाए थे और साढ़े चार हजार से लेकर पांच हजार रुपए प्रति ट्रॉली के हिसाब से बेच रहे हैं।


पुलिस की आंखों पर पट्टी
डीसीएम फ्लाईओवर के नीचे सजी अवैध बजरी मंडी लंबे समय से लग रही है। उद्योग नगर थाना यहां से डेढ़ किमी, गुमानपुरा थाने की रोडवेज पुलिस चौकी 500 मीटर और विज्ञान नगर थाने की पुलिस चौकी 700 मीटर दूरी पर है। थाने और चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों का रोजाना यहां से गुजरना होता है, लेकिन आंखों पर बंधी की पट्टी होने के कारण उन्हें यह दिखाई नहीं देती।


जिले में बजरी का अवैध खनन के लिए कोई संगठित गिरोह सामने नहीं आया है। इसकी रोकथाम के लिए गठित टीम लगातार कार्य कर रही है। ग्रामीण क्षेत्र में अवैध बजरी के खनन में काम लिए जा रहे वाहन जब्त किए हैं और भारी जुर्माना लगाया है।
ओम कसेरा, जिला कलक्टर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned