हादसे का डर दिखा अवैध वसूली करने वाला गिरोह सक्रिय

कई पीडि़त सामने आए, धमकी देकर वसूलते हैं रुपए

By: shailendra tiwari

Published: 20 Feb 2021, 06:02 PM IST

कोटा. शहर में कार से एक्सीडेंट होने की बात कहकर अवैध वसूली करने वाला गिरोह सक्रिये है। यह गिरोह पहले तो कार से दुर्घटना होने की बात कहकर कार रुकवाता है और खून से लथपथ (हाथ पर लाल रंग लगाते हैं) हाथ दिखाकर इलाज के लिए रुपयों की मांग करता है। रुपए नहीं देने पर धमकी देते हैं और मारपीट पर भी उतारू हो जाते हैं। गिरोह के लोग शहर के अलग-अलग क्षेत्र में इस तरह की वारदातों को अंजाम देते हैं। पुलिस ने अब तक धमकी देकर वसूली करने वाले तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है।


कुन्हाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किए गए बदमाशों से गहनता से पूछताछ की तो उन्होंने शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में वारदात करना कबूल कर लिया है। राजस्थान पत्रिका में इस संबंध में समाचार प्रकाशित होने के बाद शुक्रवार को कई पीडि़त सामने आए। जिनको गिरोह के लोगों ने उनकी कार से एक्सीडेंट करने का आरोप लगाते हुए जबर्दस्ती रुपयों की वसूली की। थानाधिकारी गंगासहाय शर्मा ने बताया कि आरोपियों ने डेढ़ दर्जन वारदातों को अंजाम दिया है।

500 रुपए देने ही पड़े
रामावतार नागर ने बताया कि 12 नवम्बर 2020 को उनके साथ भी बदमाशों ने ठगी की थी। नयापुरा से कार से एरोड्राम स•िॢल की ओर जा रहे थे। स्टेडियम के सामने एक बाइक पर सवार दो युवकों ने कार के आगे बाइक लगाकर रुकवाया और बोले की आपकी कार की टक्कर से चोट लगी है। इस दौरान एक युवक फोन कर अपने दोस्तों को बुलाने की बात कहने लगा। एक युवक ने हाथ को दिखाते हुए कहा कि देखो खून आ रहा है। इलाज के लिए 500 रुपए देने पड़ेंगे। बदमाशों ने 500 रुपए देने के बाद ही जाने दिया।


धमका कर वसूले रुपये
बजरंग नगर के कृष्णा नगर निवासी डॉ. विजय गोपाल ने बताया कि एक साल पहले मध्यप्रदेश के शिवपुरी निवासी उनके साले नीतूसिंह परिवार सहित सेवन वंडर रोड से बजरंग नगर आ रहे थे। इस दौरान एक बाइक पर सवार दो युवकों ने उनकी कार के आगे बाइक लगाकर कहा कि आपकी कार से हमारे दो साथियों का एक्सीडेंट हो गया है। उनके इलाज के लिए एक हजार रुपए देने पड़ेंगे। बदमाशों ने दो अन्य युवकों को बुला लिया और मारपीट पर उतारू हो गए। बाद में 500 रुपए लेने के बाद ही जाने दिया गया।


बदमाशों से बच गए
जयवीर सिंह ने बताया कि उनके मित्र नमकीन व्यवसायी पंकज सक्सेना के पिता भारत भूषण सक्सेना फैक्ट्री से संतोषी नगर स्थित दुकान पर आ रहे थे। विश्वकर्मा नगर को पार कर घटोत्कच सर्किल की तरफ बढ़े थे कि उनकी कार के आगे बाइक खड़ी कर दी। इस बाइक पर तीन युवक सवार थे। उनकी गाड़ी के नम्बर जयपुर के थे। बाइक सवार एक युवक ने कहा कि आपने मोड़ पर कार से कट मार दिया, जिससे वह गिर गया और हाथ पर चोट लगी है। युवक ने हाथ पर लाल रंग लगा रखा था। उन्होंने कहा कि महावीर नगर थाना पास में ही वहां चलकर बात करेंगे। थाने का नाम लेते ही युवक गाली-गलौज करते हुए भाग गए। होटल व्यवसायी जगदीश मेवाड़ा ने बताया कि दो माह पहले कोटड़ी चौराहे पर उनके साथ भी ऐसा ही वाकया हुआ था। बजरंग नगर से कोटड़ी की तरफ आए तो एक बाइक सवार युवक ने उनकी कार रुकवाई और कहा कि आप की कार ने टक्कर मार दी। उसने लहुलूहान हाथ दिखाया तो मैं घबरा गया। इस दौरान एक और युवक आ गया। उन्होंने थाने चलने की बात कही तो बदमाश इधर-उधर हो गए।


हाथ में खून दिखाकर जबर्दस्ती वसूले 500 रुपए
वार्ड नम्बर एक के गिरधरपुरा निवासी रमेशचंद सुमन ने बताया कि वह परिवार के साथ 10 फरवरी को कार से गिरधरपुरा से इटावा के लिए रवाना हुए। डीसीएम रोड स्थित सीएनजी स्टेशन पर गैस भरवाने के बाद राजमार्ग 76 पर बोरखंडी के पास पहुंचे तो एक बाइक पर तीन बदमाश आए और बाइक को कार के आगे लगा दिया। गाड़ी रोकी तो उनमें से एक युवक ने हाथ में खून लगा हुआ दिखाया और कहा कि आपने कट मार कर हमारी बाइक को गिरा दिया। इससे चोट लग गई और गाड़ी को नुकसान हुआ है। रुपयों की मांग की और देने से मना करने पर मारपीट पर उतारू हो गए। बदमाशों ने जबर्दस्ती 500 रुपए ले लिए।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned