हाड़ौती के इस कस्बे में 8 हजार रुपए में मिल रहा अवैध नल कनेक्शन

एक साल से चल रहे खेल का खुलासा : रुपए लेकर जल माफिया सरकारी लाइन से दे रहा था अवैध नल कनेक्शन

By: mukesh gour

Published: 29 May 2020, 12:23 AM IST

छबड़ा. भीषण गर्मी में लोगों तक कम पानी पहुंचने की शिकायतें आम हैं। कई जगह पानी ही नहीं पहुंच रहा है। ऐसे में जलदाय विभाग को चूना लगाकर कस्बे की कॉलोनी में जल माफिया द्वारा एक साल से सरकारी लाइन से सैंकड़ों अवैध कनेक्शन दिए जाने का खेल चल रहा था। इसका खुलासा गुरुवार को तब हुआ जब जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग खंड छबड़ा के अधिशासी अभियंता रामजीलाल मीणा नेहरू नगर में एक उपभोक्ता की शिकायत पर जांच करने पहुंचे। विभाग ने आरोपी माफिया पर मामला दर्ज करने के निर्देश दे दिए हैं।

read also : कोटा से रावतभाटा का कर रहे हैं सफर तो पढ़ लें यह खबर...

हालात देख चौंक गए
नेहरू नगर कॉलोनी में ज्यादातर उन लोगों के आवास हैं जिनके पास रजिस्ट्री व पट्टा नहीं है। मीणा उन लोगों के घरों में भी पानी के कनेक्शन देखकर चौंक गए। पूछताछ पर पता चला कि यह कारगुजारी जल माफिया पप्पू बैरवा की है। वो यहां 5000 से 8000 प्रति कनेक्शन वसूली कर सरकारी लाइन से कनेक्शन दे रहा था। मामले की पुष्टि के लिए जलदाय विभाग के अधिकारियों ने वहीं 80 वर्षीय लटूरी बाई के पूछताछ की तो उसने बताया कि पप्पू ने उनसे नए कनेक्शन करने के रुपए लिए हैं। इस पर अधिकारियों ने लटूरी बाई से हस्ताक्षर युक्त शिकायत ली।

read also : हाड़ौती भट्टी की तरह तपा, दोपहर बाद छाए बादल, लू के थपेड़ों से मिली राहत

मुकदमा दर्ज करने के दिए निर्देश
अधिशासी अभियंता मीणा ने पूरा मामला सामने आने के बाद सहायक अभियंता नरेंद्र कुमार यादव को जल माफिया पप्पू बैरवा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दे दिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पूरे मामले की जांच पड़ताल कराई जाए।

read also : गर्भवती के साथ कोटा से पैदल दमोह का मुश्किलों भरा सफर

कई कॉलोनियों में चल रहा खेल
लोगों की माने तो कई कॉलोनियों में यह खेल चल रहा है। ऐसे इलाकों में जलदाय विभाग ने लाइनें तो बिछा दी, लेकिन रजिस्ट्री-पटटा नहीं होने के कारण लोग नल कनेक्शन नहीं ले पा रहे हैं। सवाल उठता है कि सरकारी लाइन से अवैध कनेक्शन के इस खेल की भनक विभाग को क्यों नहीं लगी। ऐसे में अब विभाग की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े हो गए हैं।

Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned