प्रशासन की अनदेखी से लुट रही धरा की कोख कोई नहीं सुध लेने वाला

जिले के सभी ब्लॉक भले ही डॉर्क जोन की श्रेणी में हैं, लेकिन शहर में शासन-प्रशासन की अनेदखी से धरती की कोख से पानी की लूट जारी है।

By: shailendra tiwari

Published: 25 Apr 2018, 02:28 PM IST

Kota, Rajasthan, India

कोटा . जिले के सभी ब्लॉक भले ही डॉर्क जोन की श्रेणी में हैं, लेकिन शहर में शासन-प्रशासन की अनेदखी से धरती की कोख से पानी की लूट जारी है। स्थानीय लोग थाने और प्रशासन को शिकायत भी करते हैं, लेकिन बोरिंग के शोर के साथ उनकी आवाज भी दबा दी जाती है। शहर में स्टेशन क्षेत्र, कैथून रोड और कुन्हाड़ी क्षेत्र में इन दिनों अवैध रूप से बोरिंग किए जा रहे हैं। कुन्हाड़ी क्षेत्र में बने बहुमंजिला छात्रावासों और कॉलोनियों में जलापूर्ति के लिए सैकड़ों बोरिंग पहले से ही हो गए हैं और अब नए बने हॉस्टल के संचालक रात में बोरिंग करवा रहे हैं।

Read More: Big News: कोटा में ये क्या बोल गए जोशी- कांग्रेस राजस्थान में नहीं जीत सकती चुनाव

स्थानीय लोगों की शिकायत पर सोमवार रात पत्रिका टीम कुन्हाड़ी क्षेत्र के लैंडमार्क इलाके में पहुंची तो वहां दो मशीनें ट्यूबवैल के लिए ड्रिल करती हुई मिली। ड्रिल कर रहे लोगों से अनुमति की बात पूछी, तो उनका कहना था कि अनुमति की कोई जरूरत नहीं है। नीचे से उपर तक सब सेटिंग है। आप को भी ट्यूबवैल कराना हो तो बोलो।

रातभर चलता है काम
लैण्डमार्क सिटी से शिकायतकर्ता ने जब रात को 12 बजे कॉल किया और लैण्डमार्क सिटी के डी ब्लॉक में ट्यूबवैल होने की जानकारी दी। इसके बाद पत्रिका टीम मौके पर पहुंची तो पाया कि दो अन्य स्थानों पर ट्यूबवैल के लिए ड्रिल हो रहा था। ऐसे में संवाददाता ने करीब दो घंटे वहां पर रुक कर देखा तो इन दो बोरिंग मशीनों से ही अन्य दो जगहों पर और भी ट्यूबवैली की गई और देर रात एक गाड़ी और ट्यूबवैल करने के लिए लैण्डमार्क सिटी में आई।

Read More: Beauty Tips: गर्मियों में कुछ इस तरह करे त्वचा की देखभाल
एडीएम प्रशासन सुनीता डागा ने कहा कि भूजल विभाग की रिपोर्ट के आधार पर जिला कलक्टर की ओर से बोरिंग लगाने की अनुमति दी जाती है। सरकारी विभाग अनुमति मिलने के बाद ही बोरिंग कराते हैं। निजी तौर पर बिना अनुमति लिए बोरिंग करना अनुचित है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई का प्रावधान है।
Read More: स्काडा योजना से जुड़े केन्द्र: अटल केन्द्रों पर मिलेगी निर्बाध बिजली

थाने में फोन करके देख लो, कोई नहीं आएगा
जब पत्रिका टीम ने मशीन के ट्यूववैल खोदते हुए फ ोटो लेना शुरू किया तो भी मशीन के साथ मौजूद कर्मचारियों में कोई डर नहीं था। उनका कहना था कि आप पुलिस थाने में फ ोन कर देख लो। इस समय तो यहां कोई नहीं आएगा। पत्रिका टीम ने इस बात की पुष्टि के लिए कुन्हाड़ी थाने के लैंड लाइन नम्बर पर आम नागरिक बन कर बात की।

लैंडमार्क में बिना अनुमति के दो मशीनों द्वारा ट्यूबवैल खोदे जाने की जानकारी दी और तत्काल मौके पर आकर इन्हें रोकने का आग्रह किया। थाने से जिस किसी ने भी फ ोन उठाया व यहीं कहता रहा कि कुछ ही देर में मौके पर पुलिस पहुंच जाएगी। संवाददाता मौके पर डेढ़ घंटे तक रूका, लेकिन एक भी पुलिसकर्मी मौके पर नहीं पहुंचा।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned