मेडिकल एसोसिएशन : स्नेह मिलन में बंधा समां , गुनगुनाते रहे डॉक्टर , झूमे भी

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन कोटा की ओर से नववर्ष स्नेह मिलन समारोह और वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता 13-14 जनवरी को की गई आयोजित ।

By: shailendra tiwari

Updated: 15 Jan 2018, 05:21 PM IST

कोटा .

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन कोटा की ओर से नववर्ष स्नेह मिलन समारोह और वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता 13-14 जनवरी को आयोजित की गई। 13 को डॉक्टर्स ने गीत गुनगुनाए और डांस किया। दौड़ लगाई, शोले फिल्म पर आधारित नाटक, कव्वाली एवं अन्य कई कार्यक्रमों का मंचन किया। डॉक्टर्स के रैंप वॉक का आयोजन भी किया गया। रविवार को खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें क्रिकेट, एथलेटिक्स, टेबल टेनिस, बैडमिंटन, कैरम, शतरंज का आयोजन किया गया। आईएमए अध्यक्ष डॉ. जसवंत सिंह ने बताया कि डॉक्टर्स व उनके परिजनों ने बड़े उत्साह से प्रतियोगिताओं में भाग लिया।

 

Read More: मकर संक्रांति 2018: किस राशि को फल और किस राशि को मिलेगा कष्ट...जानिए खास रिपोर्ट में

 

एथलेटिक्स में डॉ. अमित यादव, डॉ. पुनीत सिंघवी, डॉ. समीर मेहता, डॉ. आलोक गर्ग, डॉ. विपिन योगी, डॉ. पूजा सिंघवी, डॉ. रुचि गोयल ने बाजी मारी। अंत में विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। मुख्य अतिथि डॉ. गिरीश वर्मा रहे। इस दौरान आईएमए उपाध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, डॉ. यशस्वी गौतम, डॉ. मनीष बोहरा, डॉ. अमित यादव सहित कई डॉक्टर्स उपस्थित रहे। कार्यक्रम में शामिल ब'चों को मोमेंटो वितरित
किए गए।

 

Read More: Thrill Story: फिर सुसाइड से दहली कोचिंग नगरी, एक और छात्रा फांसी के फंदे पर झूली

इधर कर्मचारियों ने मनाया रजत जयंती समारोह

25 साल तक साथ रह कर कार्य करने वाले कर्मचारी जब एक मंच पर आए तो खुशियों की मिठास घुल गई। इस दौरान कर्मचारियों का सम्मान किया गया तो गीतों की महफिल भी सजी। कर्मचारियों व ब'चों रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर महौल और खुशनुमा कर दिया। मौका था मेडिकल कॉलेज के अराजपत्रित कर्मचारियों का रजत जयंती समारोह का।

मेडिकल कॉलेज के ऑडिटोरियम में शनिवार को हुए समारोह में गायन व नृत्य की प्रस्तुति हुई। इसमें प्राचार्य डॉ. गिरिश वर्मा ने भी गीतों की प्रस्तुति दी। उन्होंने पुकारता चला हूं मैं..., चौदहवीं का चांद हो... समेत अन्य गीतों से महफिल सजा दी। कर्मचारी गीतों पर जमकर झूमे।

 

Read More: Human Story: जिनके आगे-पीछे घूमते थे तीन-तीन नौकर, बेटों ने उन्हें एक हजार दिन तक मलमूत्र में सडऩे-मरने को छोड़ा

 

छोटा पौधा बना वटवृक्ष

मुख्य अतिथि सांसद ओम बिरला ने मेडिकल कॉलेज के विकास के सफर कर यात्रा बताते हुए कहा कि एक छोटा सा पौधा वटवृक्ष का रूप ले चुका है। सरकारी व व्यक्तिगत प्रयासों से आज कॉलेज का स्वरूप बदला। इस कॉलेज में जितना योगदान चिकित्सकों का रहा, उतना ही यहां कार्यरत कर्मचारियों का रहा। अस्पताल के लिए चिकित्सक व कर्मचारी गाड़ी के दो पहिए है। चिकित्सक मरीज देखकर चले जाते है, लेकिन मरीज पूरे समय कर्मचारियों की देखरेख में इलाज पाते हैं और स्वस्थ्य होकर जाते है।

विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि इस कॉलेज के पूर्व विकसित सुविधाओं में कर्मचारियों का योगदान रहा। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. गिरीश वर्मा ने कहा कि 25 साल के इस सफर में कॉलेज की उन्नति व विकास पर कर्मचारियों का काफी योगदान रहा। इसे मैं सेल्यूट करता हू। 25 साल से कार्यरत इन्द्रसिंह ने कॉलेज के सफर की यात्रा का वृतांत सुनाया।

 

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned