jago janmat yatra 2018: ..म्हं तो घर-घर जाऊंगी लोकतंत्र का त्योहारी मनाऊंगी

राजस्थान पत्रिका की जनादेश यात्रा- 2018 में महिलाओं ने निभाई भागीदारी, लोकगीतों के माध्यम से मतदान का बताया महत्व

By: Suraksha Rajora

Published: 15 Nov 2018, 07:41 PM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. राजस्थान पत्रिका की जनादेश यात्रा-2018 गुरुवार को सुबह झालावाड़ जिले से होकर जगह-जगह मतदान की अलख जगाते हुए शाम को कोटा पहुंची। इस यात्रा के जरिये गांव-कस्बों में सात दिसम्बर को अधिक से अधिक मतदान करने का संदेश दिया गया है। जनादेश यात्रा को लेकर मतदाताओं में भी उत्साह का माहौल देखा गया है। युवाओं से लेकर शतायु पार मतदाता भी जनादेश यात्रा में पहुंचकर मतदान की शपथ लेकर लोकतंत्र की मजबूती के लिए निष्पक्षता से मतदान का संकल्प लिया।

 

Read More: जागो जनमत 2018: कैंपस में गर्माया चुनावी माहौल, पसंद तय करने में जुटे युवा

 

जनादेश यात्रा का रथ हाड़ौती में घूमता हुआ शाम को केबल नगर पहुंचा तो महिलाएं चूल्हा-चौका का काम छोड़कर जनादेश यात्रा में शिरकत करने पहुंच गई। यहां चौपाल जम गई। महिलाओं ने लोकगीतों के माध्यम से अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने की प्रतिबद्धता दिखाई। महिलाओं ने ढोलक की थाप और मंजीरों की झंकार पर 'म्हां तो घर-घर जाऊंगी, लोकतंत्र का त्योहार मनाऊंगी...आपा तो वोट देबा चालां ... गीत गाए। स्वीप के सहायक नोडल अधिकारी रविन्द्र श्रीवास्तव ने लोकगीतों के माध्यम से शत प्रतिशत मतदान का संदेश दिया। महिलाओं ने शत प्रतिशत मतदान का संकल्प लिया। इस दौरान क्षेत्र की समस्याओं और मुद्दों के बारे में बातचीत की गई।

 

बिना भय के करें मतदान

इस मौके पर लाडपुरा पंचायत समिति के विकास अधिकारी विक्रमसिंह ने महिलाओं व ग्रामीणों को मतदान की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा मतदाता सात दिसम्बर को बिना लोभ-लालच के बिना भय के मतदान करेंगे। उन्होंने ने कहा कि लोकतंत्र में एक-एक वोट का महत्व है। इसलिए शत प्रतिशत मतदान करें। उन्होंने राजस्थान पत्रिका की ओर से मतदान जागरुकता के लिए कार्यक्रम आयोजित करने पर सराहना की है। ग्राम विकास अधिकारी शम्भूदयाल नागर ने भी अधिक से अधिक मतदान करने का आह्वान किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned