जेईई मेन 18 तथा नीट 26 जुलाई से

दोनों परीक्षाओं में 26 लाख से अधिक विद्यार्थी होंगे शामिल

परीक्षाओं के 15 दिन पहले जारी होंगे प्रवेश पत्र

By: shailendra tiwari

Published: 24 May 2020, 07:30 PM IST

कोटा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने देश की सबसे बड़ी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नेशनल इलेजिब्लिटी कम ऐंट्रेंस टेस्ट (नीट यूजी ) तथा सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। इन दोनों परीक्षाओं में 26 लाख से अधिक विद्यार्थी शामिल होंगे।

नीट यूजी

कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट पारिजात मिश्रा ने बताया कि नीट यूजी 26 जुलाई को दोपहर 2 से शाम 5 बजे के बीच ऑफ लाइन मोड में होगी। परीक्षा के 15 दिन पहले प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे। जिसमें परीक्षा केन्द्र का शहर व स्थान बताया जाएगा।

इस मेडिकल प्रवेश परीक्षा के माध्यम से ऑल इंडिया गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज की 15 प्रतिशत, स्टेट कोटे की 85 प्रतिशत, सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी की 100 प्रतिशत, एएफ एमसी की 100 प्रतिशत, प्राइवेट डीम्ड यूनिवर्सिटी की एमबीबीएस की सीटों पर प्रवेश दिया जाएगा। एम्स व जिपमैर जैसे सेन्ट्रल इंस्टीट्यूट के प्रवेश भी इस वर्ष पहली बार इसी परीक्षा के माध्यम से होंगे।

आयुष कोर्स की 100 प्रतिशत तथा वेटेनरी कोर्स की 15 प्रतिशत सीटों पर भी इसी परीक्षा के माध्यम से प्रवेश होंगे। इस वर्ष 543 मेडिकल कॉलेजों की 79 हजार 855 एमबीबीएस सीटों तथा 313 डेंटल कॉलेज की 26 हजार 949 सीटों के लिए होने वाली इस परीक्षा के लिए 15 लाख 93 हजार 452 स्टूडेंट्स ने आवेदन किया है। परीक्षा तीन घंटे की होगी। जिसमें 45 प्रश्न फि जिक्स, 45 कैमेस्ट्री, 90 प्रश्न बॉयलॉजी के पूछे जाएंगे। हर प्रश्न 4 अंक का होगा, गलत होने पर एक अंक की माइनस मार्किंग होगी।

जेईई मेन

कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट अमित आहूजा ने बताया कि जेईई मेन 18 से 23 जुलाई के मध्य आयोजित होगी। यह परीक्षा प्रत्येक दिन दो शिफ्टों में नए समय पर सुबह 9 से दोपहर 12 और दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक होगी। परीक्षाएं कुल 10 शिफ्टों में होने की संभावना है, क्योंकि परीक्षा की तिथियां 18, 20, 21,22 एवं 23 जुलाई प्रस्तावित है, साथ ही जनवरी जेईई मेन परीक्षा 4 दिन में 8 शिफ्टों में हुई थी। विद्यार्थी 31 मई तक पुन: अपने परीक्षा केन्द्र बदलने एवं आवेदन में हुई त्रुटियों के सुधार कर सकते हैं।

जेईई.मेन जुलाई की आवेदन तिथि समाप्त होने के साथ 2 लाख 85 हजार नए विद्यार्थी आवेदन कर चुके हैं। 19 मई से 24 मई तक 20 हजार विद्यार्थियों ने आवेदन किए हैं। ये ऐसे विद्यार्थी माने जा सकते हैं, जो भारत के बाहर पढऩे के इच्छुक थे। इस प्रकार जेईई मेन जुलाई में 9 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों के बैठने की संभावना है। विद्यार्थी दिए गए समयान्तराल में अपनी सुविधानुसार परीक्षा केन्द्रों को बदल सकते हैं, जिससे उन्हें कम से कम यात्रा करनी पड़े। जेईई मेन जुलाई के प्रवेश पत्र परीक्षा से 15 दिन पूर्व जारी किए जाएंगे।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned