Video: पैरों तले रौंदकर मिट्टी में मिलाया दशानन का अहंकार

कोटा में जेठी समाज ने रविवार को विजया दशमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया। उन्होंंने शहर की अनूठी परम्परा का निर्वाह करते हुए पैरों तले रौंदकर रावण के अहम को तोड़ा। कोटा में जेठी समाज की अनूठी परम्परा है, इसके तहत समाज के लोग समाज के अखाड़ों पर वर्षों से मिट्टी का रावण बनाकर उसे पैरों से रौंदते हैं।

By: Haboo Lal Sharma

Published: 25 Oct 2020, 07:28 PM IST

कोटा. जेठी समाज ने रविवार को विजया दशमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया। उन्होंंने शहर की अनूठी परम्परा का निर्वाह करते हुए पैरों तले रौंदकर रावण के अहम को तोड़ा। कोटा में जेठी समाज की अनूठी परम्परा है, इसके तहत समाज के लोग समाज के अखाड़ों पर वर्षों से मिट्टी का रावण बनाकर उसे पैरों से रौंदते हैं।

Read More: Video: यहां मिट्टी का रावण बनाकर पैरों से रौंदते हैं

इसी के चलते किशोरपुरा व नांता स्थित समाज के अखाड़ों पर रावण के वध की परम्परा निभाई गई। हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण इस बार हमेशा की तरह लोगों की उपस्थिति कम रही, लेकिन उत्साह पूरा नजर नजर आया। समाज के लोग अखाड़ा संरक्षक सोहन जेठी व जेठियान समाज पंचायत समिति के अध्यक्ष आशीष जेठी की मौजूदगी में निर्धारित समय पर अखाड़े में पहुंचे व देवी तथा बाद में रावण का पूजन कियाए बद मेंं रावण को युद्ध के लिए ललकारते हुए कुछ ही देर में पैरों तले रावण के अहम को रौंद दिया।

Haboo Lal Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned