राजपूत नेताओं ने कहा कि‍ सरकार बचानी है तो वसुंधरा राजे को अपना गरूर छोडऩा होगा

राजपूत नेताओं ने कहा कि‍ सरकार बचानी है तो वसुंधरा राजे को अपना गरूर छोडऩा होगा

Shailendra Tiwari | Updated: 17 Jun 2018, 05:44:45 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

कोटा पहुंचे करनी सेना के राष्ट्रीय महासचिव सूरजपाल सिंह अम्मू ने कहा राजपूत नेताओं ने कहा कि‍ सरकार बचानी है तो वसुंधरा राजे को अपना गरूर छोडऩा होगा

कोटा। भाजपा के पूर्व नेता और करणी सेना के महासचिव सूरजपाल अम्मू कोटा में आयोजित होने वाले राजपूत समाज के सम्मेलन में शिरकत करने के लिए शनिवार रात कोटा पहुंचे। यहां पहुंचते ही उन्होंने कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों को कटघरे में खड़ा कर दिया। यहां तक कि कहा कि करणी सेना राजनीतिक निर्णय जल्द ले सकती है। वहीं राजस्थान की cm Vasundhara Raje को भी चेतावनी दी कि वह अपना गरूर छोड़ दें। क्योंकि 2018 में भाजपा की सरकार दोबारा राजस्थान में नहीं बनेगी।
अम्मू ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष कोई भी बने यह भाजपा का आंतरिक मामला है, लेकिन CM वसुंधरा राजे को अपना गरूर छोडऩा होगा। मैं 28 साल भाजपा में कई पदों पर रहा और 10 साल से आरएसएस से जुड़ा था, लेकिन अब भाजपा को यह गलतफहमी नहीं रहनी चाहिए कि 2018 में वह सत्ता में वापस आ जाएंगे। क्योंकि हर समाज के उपेक्षा ठीक नहीं है।

तो चुनाव लड़ेगी करणी सेना
अम्मू ने कहा कि देश में राजपूत समाज 18 से 20 करोड़ की संख्या में है। इसके बावजूद कश्मीर के लोगों की बात सुनी जाती है और हमारी बात काट दी जाती है। ऐसे में अब करणी सेना निश्चित तौर पर राजनीतिक निर्णय के बारे में सोच रही है और यह केवल मात्र राजस्थान व मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव के बारे में नहीं होगा।

बड़े नेताओं ने नहीं किया ट्वीट
साथ ही साथ उन्होंने कांग्रेस और भाजपा के बड़े राजनेताओं पर भी महाराणा प्रताप जयंती को लेकर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी, सोनिया गांधी अमित शाह, पीएम नरेंद्र मोदी, मुलायम सिंह व मायावती किसी ने भी श्रद्धांजलि का ट्वीट नहीं किया।


फटे हुए टेंट में हमारे रामलला
करणी सेना के महासचिव अम्मू यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि मंदिर बनाने का दावा करने वाली पार्टी राम जन्म भूमि की सफ ाई भी नहीं करवा पा रही है। स्थिति यह है कि रामलला के दर्शन करने जो व्यक्ति जाता है और उस फ टे हुए टेंट में रामलला को देखकर उसके आंसू आ जाते हैं।

रामदेव की जागीर नहीं योग
आज पूरे हिन्दुस्तान को हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को योग से जोडऩे लिए अच्छी पहल को शुरू किया है, लेकिन एेसा लगता है यह रामदेव ही योग की जागीर हो गई है। ये वही रामदेव है जो की रामलीला ग्राउंड से महिला के कपड़े पहन वहां से भागे थे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned