scriptKhatu Wale, come to take it, at that turn of Ringus... | लेने आजा खाटू वाले, रींगस के उस मोड़ पे... | Patrika News

लेने आजा खाटू वाले, रींगस के उस मोड़ पे...

locationकोटाPublished: Mar 04, 2023 12:21:08 am

Submitted by:

Narendra

रामगंजमंडी बना खाटू धाम
1 किलोमीटर लंबी निशान यात्रा में लगाई हजारों श्रद्धालुओं ने हाजिरी
हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा रही आकर्षण का केंद्र

लेने आजा खाटू वाले, रींगस के उस मोड़ पे...
लेने आजा खाटू वाले, रींगस के उस मोड़ पे...
कोटा. रामगंजमंडी कस्बे में शुक्रवार को निकली निशान यात्रा भव्य एवं अलौकिक थी। जहां तक नज़र जाती वहां तक सिर्फ रंग बिरंगे निशान दिखाई देते। ये श्यामप्रेमियों का उत्साह ही था जो विगत एक महीने से इस महाकुंभ के लिए चल रही तैयारियां शुक्रवार को एक अतुल्य स्वरूप में पूर्ण हुई और रामगंजमंडी मानो खाटू धाम बन गया। यात्रा में शामिल होने के लिए ग्रामीण अंचल के साथ ही समीपवर्ती भानपुरा और भवानीमंडी के अलावा शामगढ़, नीमच, मंदसौर तथा सीकर, जयपुर, उदयपुर, पाली, चितौड़गढ़, टोंक, कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़, दौसा व सवाई माधोपुर जिलों से भी श्यामभक्त रामगंजमंडी पहुंचे और निशान यात्रा में शामिल हुए।
इत्र वर्षा और लहराते बाबा के रंग बिरंगे निशान
पंचमुखी हनुमान मंदिर से शुरू हुई यात्रा के लिए प्रातः 8 बजे से श्याम प्रेमी जुटना शुरू हो गए। इस अवसर पर 51 सौ बाबा के निशानों के पूजन के बाद प्रदेश के 11 जिलों से आए हजारों श्याम भक्तों ने इन्हें थामा तथा प्रातः 9 बजे निशान यात्रा आरंभ हुई। इसमें सबसे आगे पानी का टैंकर मार्ग की सफाई करते हुए चल रहा था। इसके बाद 15 फीट के मुख्य ध्वज की तैनाती में सैकड़ों श्याम भक्त मौजूद थे। लगभग आठ सौ से एक हजार श्रद्धालुओं के मध्य 1 डीजे की व्यवस्था थी। पुरुष वर्ग जहां यात्रा में कुर्ता पजामा ड्रेस कोड में शामिल हुआ तो महिलाओं का ड्रेस कोड लाल चुनरी था। डीजे की धुन पर नाचता गाता युवक, युवतियों, पुरुष और महिलाओं का समूह बाबा के जयकारे लगाते आगे बढ़ रहा था। यात्रा की अन्तिम श्रृंखला में बग्गी पर विराजित श्याम बाबा की अलौकिक झांकी आकर्षण का केंद्र रही।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.