कोटा: बीडीओ ने प्रतिबंध अवधि में कर दिए तबादले

कोटा जिले के दो विकास अधिकारियों ने अपनी मर्जी से ही कार्मिकों को इधर-उधर कर दिया। जिला परिषद के सीईओ ने ये तबादले निरस्त कर दिए। एक विकास अधिकारी ने खुद का तबादला होने के बाद कार्मिकों तबादला सूची जारी कर दी।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 06 Jan 2021, 08:16 AM IST

कोटा. राज्य सरकार के आदेशों के बिना प्रतिबंध अवधि के दौरान कोटा जिले के खंड विकास अधिकारियों की ओर से कार्मिकों के तबादले करने का मामला सामने आया है। इसका खुलासा होते ही जिला परिषद के सीईओ टीकमचंद बोहरा ने तबादले निरस्त करने के आदेश जारी किए हैं। सीईओ ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से स्थानांतरण पर प्रतिबंध में शिथिलता दिए जाने का कोई आदेश जिला परिषद कार्यालय को प्राप्त नहीं हुआ है। उसके बावजूद कुछ खंड विकास अधिकारियों ने अपने स्तर पर ग्राम विकास अधिकारियों, कनिष्ठ सहायकों तथा कनिष्ठ तकनीकी सहायकों के स्थानांतरण आदेश कर दिए हैं। इन्हें मंगलवार को निरस्त कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि पंचायत समिति खैराबाद के खंड विकास अधिकारी रामचंद्र जाट ने खुद का स्थानान्तरण हो जाने के बावजूद अंतिम दिन स्थानांतरण आदेश जारी किए गए। इसे गंभीरता से लिया गया है। इसी तरह लाडपुरा पंचायत समिति के खंड विकास अधिकारी संजय गोयल ने अनाधिकृत तौर पर किए गए ग्राम विकास अधिकारियों एवं कनिष्ठ सहायकों का तबादले दिए। इन्हें रद्द करते हुए खंड विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इन दोनों ही खंड विकास अधिकारियों से स्पष्टीकरण लेकर उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई के प्रस्ताव पंचायत राज विभाग को भेजे जाएंगे।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned