जिसको जितनी जगह मिली, कब्जाई और बैठ गया,अब आई शामत तो अतिक्रमियो ने कह दी ये बात, मचा हड़कंप

निगम ने फुटपाथ से हटाए अतिक्रमण, डिस्प्ले बोर्ड किए जब्त, सड़क किनारे चारा बेचने वालों के खिलाफ भी की कार्रवाई

 

By: Suraksha Rajora

Published: 06 Jan 2020, 07:11 PM IST

कोटा. नगर निगम के अतिक्रमण निरोधक दस्ते ने सोमवार को कोटड़ी रोड, गुमानपुरा, फर्नीचर मार्केट, घोड़ा बाबा सर्किल के आस-पास हो रहे अतिक्रमण व दुकानदारों की ओर से फुटपाथ पर डिस्प्ले बोर्ड व अन्य सामान फैलाकर किए गए अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई की। एक ही दिन में टीम ने तीस से अधिक डिस्प्ले बोर्ड जब्त किए।


निगम आयक्त वासुदेव मालावत के निर्देश पर टीम ने कार्रवाई शुरू की। दस्ते के सहायक प्रभारी श्याम शर्मा टीम के साथ कोटड़ी रोड पहंचे, यहां हरा चारा बेचने वालों ने आधी सड़क तक कब्जा कर रखा था। इस कारण यहां आवारा मवेशियों का जमावड़ा लगा हुआ था। इस वजह से गंदगी फैली हुई थी। स्वच्छता सर्वेक्षण के मद्देनजर यदि केन्द्रीय टीम इस मार्ग से गुजरेगी तो अंक कटना तय है। टीम ने हरा चारा जब्त कर लिया और जिस ठेले पर चारा बेचा जा रहा था, उस ठेले को भी जब्त कर लिया।

निगम ने पिछले दिनों बाजारों में मुनादी करवाई थी कि दुकानदार निर्धारित सीमा के बाहर उत्पाद व डिस्प्ले बोर्ड नहीं रखें। मुनादी से व्यापारी बेअसर रहे। इसके लिए फुटपाथ पर जिन व्यापारियों ने अपनी दुकानों व शोरूम के बाहर डिस्प्ले बोर्ड व अन्य सामग्री प्रदर्शित कर रखी थी, उसे जब्त कर लिया। दुकानदारों के तीस से अधिक टिपर जब्त किए हैं। टीम अपने साथ टिपर लेकर चल रही थी। टिपर में जब्त किए गए सामान भर दिए। अधिक सामान जब्त करने के कारण दो बार टिपर को चक्कर लगाने पड़े हैं।

हरा चारा कायन हाउस की गायों को खिलाया
निगम ने अलग-अलग क्षेत्रों से करीब दो हजार हरे चारे के पूल भी जब्त किए। हरे चारा को टिपर में भरकर किशोरपुरा कायन हाउस भेज दिया गया। यहां हरा चारा गौवंश को खिलाया गया। निगम आयुक्त ने सड़कों के किनारे चारा बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।


डीसीएम रोड से नहीं हटे अतिक्रमी

अतिक्रमण निरोधक दस्ता डीसीएम रोड पर राउण्ड लगाकर चला गया, लेकिन एक भी अतिक्रमी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। ठेले वालों का कहना है कि निगम कर्मचारियों की हर माह 'सेवाÓ की जाती है, इसलिए कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती। निगम अधिकारियों की मिलीभगत के कारण जहां पहले पांच-छह ठेले खड़े होते थे, अब दो दर्जन से अधिक ठेले खड़े होने लग गए हैं। फल विक्रेता कचरा भी नाले में भी डालते हैं।

Show More
Suraksha Rajora
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned