कोटा में फिर बजे खुशियों को ढोल

कोटा शहर में रहकर पढ़ने वाले विद्यार्थियों को बड़ी संख्या में नीट में सफलता मिली है। इसको लेकर खुशी का माहौल है। कोटा में नीट परिणाम के साथ दीपावली की खुशियों का आगाज हो गया।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 16 Oct 2020, 08:56 PM IST

कोटा. देशभर के मेडिकल कॉलेजों में दाखिल के लिए आयोजित परीक्षा में कोटा ने फिर इतिहास रचा है। कोटा के एलन कोचिंग से क्लासरूम छात्र ने नीट में देश में पहली रैंक हासिल की है। शोएब आफताब ने 720 में से 720 अंक प्राप्त किए हैं। शोएब आफताब मूल रूप से राउरकेला के रहने वाले हैं, लेकिन दो साल से कोटा में रहकर पढ़ाई कर रहे थे। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय कोटा में पढ़ाई के बेहतर माहौल को दिया है। इसके अलावा कोटा में पढऩे वाले विद्यार्थियों में से बड़ी संख्या में सफलता मिली है।

कोरोना के चलते लगे लॉकडाउन में भी कोटा रहकर तैयारी करने वाले एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट, कोटा के क्लासरूम छात्र शोएब आफताब ने 720 में से 720 अंक प्राप्त देश में पहला स्थान प्राप्त किया। शोएब अपने परिवार में पहला है, जो मेडिकल की पढ़ाई करेगा और डॉक्टर बनेगा। शोएब ने बताया कि डॉक्टर बनना सपना था, जो अब साकार होने जा रहा है। वर्ष 2018 में कोटा आया था। यहां मुझे बेहतर स्पद्र्धा का माहौल मिला। मैं कोटा में अपनी मां और छोटी बहन के साथ पीजी में रहता था। इसी वर्ष 12वीं में 95.8 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। केवीपीवाई में ऑल इंडिया 37वीं रैंक एवं 10वीं में 96.8 प्रतिशत अंक थे। लॉकडाउन के समय मैंने कोटा में रहकर ही अपनी कमजोरियां दूर की। मैं नीट के सिलेबस में कठिन टॉपिक्स को बार-बार रिवाइज करता गया। इससे डाउट्स भी सामने आते गए। कोचिंग के दौरान क्लासरूम का होमवर्क डेली करता था और तीनों विषयों को बराबर समय देता था। मैं रोजाना शेड्यूल बनाकर पढ़ाई करता हूं, हर सब्जेक्ट को अलग-अलग समय देता हूं।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned